एडवांस्ड सर्च

Advertisement

कश्मीर पर PAK के साथ खड़े देशों के खिलाफ भारत की कूटनीतिक तैयारी शुरू

aajtak.in
16 October 2019
कश्मीर पर PAK के साथ खड़े देशों के खिलाफ भारत की कूटनीतिक तैयारी शुरू
1/8
कश्मीर मुद्दे पर मलेशिया के अलावा तुर्की भी पाकिस्तान के पक्ष में खड़ा है. इन देशों के खिलाफ भारत ने बड़ी कूटनीतिक तैयारी शुरू कर दी है. हालांकि पाकिस्तान के साथ जोर शोर से खड़े मलेशिया के तेवर अब नरम होते दिख रहे हैं लेकिन तुर्की के खिलाफ भारत ने कूटनीतिक तैयारी शुरू कर दी है.
कश्मीर पर PAK के साथ खड़े देशों के खिलाफ भारत की कूटनीतिक तैयारी शुरू
2/8
दरसअल, भारत ने खाद्य तेल आयात पर मलयेशिया की जगह इंडोनेशिया को ज्यादा महत्व देने का विचार किया तो मलेशिया सरकार हरकत में आ गई. मलेशिया सरकार ने कहा कि कश्मीर मुद्दे की वजह से भारत और मलेशिया के बीच ट्रेड वॉर होने से दोनों देशों को नुकसान हो जाएगा.
कश्मीर पर PAK के साथ खड़े देशों के खिलाफ भारत की कूटनीतिक तैयारी शुरू
3/8
उधर भारत ने तुर्की के खिलाफ अमेरिका की उस मुहिम का समर्थन करने का फैसला किया है जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने घोषणा की थी कि अमेरिका तुर्की के खिलाफ प्रतिबंध लगाएगा.
कश्मीर पर PAK के साथ खड़े देशों के खिलाफ भारत की कूटनीतिक तैयारी शुरू
4/8
ट्रंप ने तो यहां यह बयान दे दिया था कि अगर तुर्की तबाही की राह पर बढ़ता रहा तो अमेरिका उसकी अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर देगा. यह सब तब हुआ था जब तुर्की ने नौ अक्तूबर को सीमा पार कुर्दिश लड़ाकों पर हमला शुरू किया था.
कश्मीर पर PAK के साथ खड़े देशों के खिलाफ भारत की कूटनीतिक तैयारी शुरू
5/8
हालांकि ईरान ने कश्मीर पर भारत के खिलाफ कुछ नहीं बोला है लेकिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी से मुलाकात की थी और कश्मीर पर समर्थन मांगा था. इसके बावजूद भी भारत-ईरान के बीच कूटनीतिक बातचीत चल रही है.
कश्मीर पर PAK के साथ खड़े देशों के खिलाफ भारत की कूटनीतिक तैयारी शुरू
6/8
रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत मलेशिया के तेल सहित अन्य उत्पादों के आयात में कटौती करने पर विचार कर रहा है और इसे इंडोनेशिया से निर्यात करने का विचार कर रहा है. हालांकि भारत सरकार की तरफ से इस मामले में कोई बयान सामने नहीं आया है.
कश्मीर पर PAK के साथ खड़े देशों के खिलाफ भारत की कूटनीतिक तैयारी शुरू
7/8
उधर पाकिस्तान ने तुर्की के मामले में चीन को भी नाराज कर दिया है. क्योंकि जहां पाकिस्तान ने सीरिया में तुर्की की सैन्य कार्रवाई का समर्थन किया था तो वहीं  चीन ने जहां तुर्की से कुर्दिश बलों के खिलाफ कार्रवाई रोकने को कहा है.
कश्मीर पर PAK के साथ खड़े देशों के खिलाफ भारत की कूटनीतिक तैयारी शुरू
8/8
पाकिस्तान और तुर्की भले ही एक दूसरे का समर्थन कर बैठे हैं लेकिन उनकी राह आसान नहीं होगी. इमरान खान को अंततः चीन के पास ही लौटकर जाना होगा, और वे चीन को नाराज नहीं करना चाहेंगे. जबकि भारत सहित दुनिया के काफी देशों ने सीरिया में तुर्की की कार्रवाई को गलत बताया था
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay