एडवांस्ड सर्च

Advertisement

कोरोना वायरस के डर के बीच इनको हो रहा जमकर फायदा!

aajtak.in
17 March 2020
कोरोना वायरस के डर के बीच इनको हो रहा जमकर फायदा!
1/8
कोरोना वायरस की वजह से दुनिया भर के बाजारों में सन्नाटा है लेकिन कुछ बाजार ऐसे भी हैं जहां यह संक्रमण मौका बनकर आया है. कोरोना वायरस के संक्रमण के डर से कई देशों में समूहों में जमा होने पर रोक लगा दी गई है. मॉल और बाजार में भी जाने से लोग परहेज कर रहे हैं ताकि संक्रमण से बचा जा सके. ऐसे में लोग अपनी जरूरत के सामान ऑनलाइन ऑर्डर कर रहे हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार ऑनलाइन ऑर्डर से सामानों की डिलीवरी बढ़ गई है.

कोरोना वायरस के डर के बीच इनको हो रहा जमकर फायदा!
2/8
यूरोप के ग्रॉसरी रीटेलर रेवा ने इस बात की पुष्टि की है कि ऑनलाइन डिमांड बढ़ी है. इस कंपनी के अनुसार, बर्लिन में डिलिवरी की कोई भी डेट खाली नहीं है. मार्च तक सारी डेट बुक हैं. कोरोना वायरस के संक्रमण से पहले ऐसा कभी नहीं हुआ था. इस कंपनी के प्रवक्ता ने बताया है कि मांग की मात्रा भी बढ़ी है. यानी लोग ज्यादा सामान ऑनलाइन मंगवा रहे हैं. लोगों में डर है कि कहीं सामान खत्म न हो जाए. हालांकि रेवा ने कहा है कि कोरोना को देखते हुए डिलीवरी सर्विस बढ़ाने पर विचार नहीं कर रहा है. कंपनी का कहना है कि लोग गूगल से जाकर रेवा पर ऑर्डर कर रहे हैं और रेवा कई बार गूगल ट्रेंड में भी आ गई.
कोरोना वायरस के डर के बीच इनको हो रहा जमकर फायदा!
3/8
फूड डिलिवरी कंपनी लाइफरैंडो का भी कहना है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लोग कॉन्टैक्टलेस डिलिवरी सेवा को तवज्जो दे रहे हैं. संपर्क में आए बिना सामान की ऑनलाइन डिलिवरी की मांग और भी तेजी से बढ़ी है. कूरियर वाले बेल बजाकर दरवाजे के बाहर सामान रखकर चले जा रहे हैं.
कोरोना वायरस के डर के बीच इनको हो रहा जमकर फायदा!
4/8
पिज्जा रेस्टोरेंट चेन डॉमिनोज का भी कहना है कि कोरोना वायरस के बाद से ऑनलाइन डिलीवरी बढ़ी है. जर्मनी में लोग कॉन्टैक्टलेस डिविलरी को काफी तवज्जो दे रहे हैं. हालांकि इस डिलिवरी पर भी सवाल उठ रहे हैं कि क्या यह कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने में वाकई यह कारगर है? क्योंकि फूड पैकेज घर तक डिलिवर करने में कई व्यक्तियों के संपर्क में आता है. कूरियर सर्विस के डिलिवरी पर्सन पर इतना भरोसा कैसे किया जा सकता है?
कोरोना वायरस के डर के बीच इनको हो रहा जमकर फायदा!
5/8
क्या कोरोना वायरस से लोगों के उपभोग करने और परचेजिंग करने का तरीका भी बदला है? जाहिर है कि जो घरों में रहकर ही सब कुछ कर रहे हैं उनके जीवन में परिवर्तन निश्चित तौर पर आया है. कई लोग कह रहे हैं कि नेटफ्लिक्स के सब्सक्राइबर्स बढ़े होंगे क्योंकि कई देशों में सिनेमाघरों को अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है.
कोरोना वायरस के डर के बीच इनको हो रहा जमकर फायदा!
6/8
सेक्स टॉय बेचने वाली कंपनियों का कहना है कि उनका बिजनेस कोरोना वायरस के संक्रमण के बाद से बढ़ गया है. सेक्स टॉय मैन्युफैक्चरर वुमेनाइजर का कहना है कि उसे उम्मीद है कि इस साल उसका बिजनेस उन देशों में बढ़ेगा जो कोरोना वायरस की चपेट में हैं. कंपनी के अनुसार, इटली में उनका बिजेनेस उम्मीद से 60 फीसदी ज्यादा बढ़ा है. फ्रांस में 40 फीसदी बढ़ा है. जर्मनी, स्विट्जरलैंड और ऑस्ट्रिया में भी सेक्स टॉय की मांग 40 फीसदी बढ़ी है. कनाडा और अमरीका में भी वुमेनाइजर का बिजनेस बढ़ा है.
कोरोना वायरस के डर के बीच इनको हो रहा जमकर फायदा!
7/8
वुमेनाइजर में हेड ऑफ सेक्शुअल इम्पावरमेंट जोहाना रिफ का कहना है कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि कोरोना वायरस के कारण बिज़नेस बढ़ेगा. वुमेनाइजर समय-समय पर कई तरह का सेक्स सर्वे भी कराता है.
कोरोना वायरस के डर के बीच इनको हो रहा जमकर फायदा!
8/8
कुछ रिपोर्ट में यह भी कहा जा रहा है कि घरों में रहने से बच्चा पैदा करने की प्रवृत्ति बढ़ेगी लेकिन दूसरी बात यह भी कही जा रही है कि लोग संक्रमण के डर से सेक्स से परहेज करेंगे. अगर लंबे समय तक कोरोना रहा तो इंसान की जिंदगी में कई तरह के परिवर्तन होंगे.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay