एडवांस्ड सर्च

Advertisement

बच्ची को डे केयर में छोड़कर आई थी मां, हालत देख रह गई हैरान

aajtak.in [Edited By: प्रज्ञा बाजपेयी]
27 May 2018
बच्ची को डे केयर में छोड़कर आई थी मां, हालत देख रह गई हैरान
1/9
मां के लिए बच्चे से बढ़कर शायद ही दुनिया में कोई चीज होती होगी. हर मां चाहती है कि उसके बच्चे की बेहतर परवरिश और देखभाल हो सके. आजकल वर्किंग पैरेंट्स के पास अपने बच्चे को डेकेयर में छोड़ने के अलावा कोई और ऑप्शन नहीं होता है.
बच्ची को डे केयर में छोड़कर आई थी मां, हालत देख रह गई हैरान
2/9
नॉर्थ कैरोलिना से डेकेयर से जुड़ा एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. एक महिला जब अपनी बच्ची को नर्सरी से लेने गई तो उसकी हालत देखकर हैरान-परेशान हो गई.
बच्ची को डे केयर में छोड़कर आई थी मां, हालत देख रह गई हैरान
3/9
जेसिका हेस नाम की महिला ने फेसबुक पर तस्वीरें पोस्ट करते हुए बताया कि उसकी बच्ची के जूतों को पैरों में टेप से कसकर बांध दिया गया था.
बच्ची को डे केयर में छोड़कर आई थी मां, हालत देख रह गई हैरान
4/9
बच्ची की उम्र मात्र 17 महीने ही है. स्टाफ ने बच्ची के जूतों को इसलिए टेप से बांध दिया था ताकि वह उन्हें बार-बार उतार ना सके.
बच्ची को डे केयर में छोड़कर आई थी मां, हालत देख रह गई हैरान
5/9
बच्ची ने जूते उतारना कुछ दिन पहले ही सीखा था. फेसबुक पर पोस्ट में सिंगल मदर ने लिखा, क्या मेरे अलावा यहां कोई और है जो इसके लिए बुरा महसूस कर रहा है?

बच्ची को डे केयर में छोड़कर आई थी मां, हालत देख रह गई हैरान
6/9
जेसिका ने आगे लिखा, मेरी बच्ची के पैरों में जूते बहुत देर तक और बहुत टाइट बांधकर रखा गया जिसकी वजह से उसके पैरों पर निशान पड़ गए. उसके पैरों में सूजन भी आ गई है.

बच्ची को डे केयर में छोड़कर आई थी मां, हालत देख रह गई हैरान
7/9
मैं बहुत दुखी हूं कि मेरी मासूम बच्ची के साथ ऐसा किया गया, किसी को मेरी बच्ची के जूत उतारने से दिक्कत हो रही होगी और झल्लाहट में उसने ऐसा काम किया होगा. सबसे ज्यादा दर्दनाक है कि मेरी बच्ची अपने बचाव में कुछ कह भी नहीं सकती थी.
बच्ची को डे केयर में छोड़कर आई थी मां, हालत देख रह गई हैरान
8/9
जेसिका ने डायरेक्टर से शिकायत की हालांकि वह अपनी बच्ची को इस डेकेयर से नहीं निकालेंगी.
बच्ची को डे केयर में छोड़कर आई थी मां, हालत देख रह गई हैरान
9/9
वह कहती हैं, मैं सिंगल पैरेंट हूं और मेरे बच्चे को संभालने के लिए मेरे पास परिवार का सपोर्ट नहीं है. डेकेयर में बच्ची को डालना मेरी मजबूरी है.
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay