एडवांस्ड सर्च

'गांधी बिफोर गांधी' पुस्तक के हिंदी संस्करण का लोकार्पण

नई दिल्ली स्थित पार्लियामेंट एनेक्सी के बालयोगी सभागार में वीरचन्द राघव जी गांधी के 150वी जन शताब्दी वर्ष के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में उनके जीवन वृत्तांत पर आधारित नाटक और ‘गांधी बिफोर गांधी’ पुस्तक के हिंदी संस्करण का लोकार्पण हुआ. इस अवसर पर केन्द्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद, केन्द्रीय राज्य मंत्री मनसुख डी वासवा, सांसद रामसिंह राठवा, सांसद दिलीप गांधी, सांसद चिराग पासवान सहित जैन समुदाय के लोग मौजूद थे.

Advertisement
aajtak.in
मुकेश कुमार नई दिल्ली, 17 December 2015
'गांधी बिफोर गांधी' पुस्तक के हिंदी संस्करण का लोकार्पण पार्लियामेंट एनेक्सी के बालयोगी सभागार में हुआ कार्यक्रम

नई दिल्ली स्थित पार्लियामेंट एनेक्सी के बालयोगी सभागार में वीरचन्द राघव जी गांधी के 150वी जन शताब्दी वर्ष के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में उनके जीवन वृत्तांत पर आधारित नाटक और ‘गांधी बिफोर गांधी’ पुस्तक के हिंदी संस्करण का लोकार्पण हुआ. इस अवसर पर केन्द्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद, केन्द्रीय राज्य मंत्री मनसुख डी वासवा, सांसद रामसिंह राठवा, सांसद दिलीप गांधी और सांसद चिराग पासवान मौजूद थे.

इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए केन्द्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जैन समुदाय द्वारा वीरचंद राघव जी का सम्मान भारत का सम्मान है. वीरचंद राघव जी, विवेकानंद जी और धर्मपाल जी ने 1893 में आयोजित शिकागो के धर्म संसद में सद्भाव और सहिष्णुता का पाठ पूरी दुनिया को पढ़ाया. वीरचंद राघव जी गांधी का नाम समाज पटल पर खुलकर आए इस दिशा में सरकार प्रयास करेगी.

बताते चलें कि वीरचन्द राघव जी गांधी ने अमेरिका के शिकागो में जैन धर्म की तरफ से भारत का प्रतिनिधित्व किया था. उसके बाद उनके भाषणों से प्रभावित होकर अमेरिका में उनके सैकड़ों लोग अनुयायी बन गए. पंचशील जैसे सिद्धांतों पर राघव जी ने उसी दौरान अपना पक्ष रख दिया था. इसपर आगे चलकर नीति-निर्माताओं ने काम किया. कार्यक्रम का आयोजन श्री आत्मवल्लभ जैन स्मारक शिक्षण निधि के तत्वावधान में हुआ.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay