एडवांस्ड सर्च

Advertisement

एक परिचर्चाः भारतीय जनतंत्र का जायजा

आलोचना (त्रैमासिक) पत्रिका के अंक 53-54 के प्रकाशन के उपलक्ष्य में 'भारतीय जनतंत्र का जायजा' विषय पर इस शनिवार 6 जून 2015 को शाम 5 बजे से साहित्य अकादमी सभागार में एक परिचर्चा का आयोजन किया जा रहा है.
एक परिचर्चाः भारतीय जनतंत्र का जायजा Rajkamal Prakashan
aajtak.in [Edited by: नंदलाल शर्मा]नई दिल्ली, 04 June 2015

आलोचना (त्रैमासिक) पत्रिका के अंक 53-54 के प्रकाशन के उपलक्ष्य में 'भारतीय जनतंत्र का जायजा' विषय पर इस शनिवार 6 जून 2015 को शाम 5 बजे से साहित्य अकादमी सभागार में एक परिचर्चा का आयोजन किया जा रहा है.

राजकमल प्रकाशन समूह की ओर से आयोजित इस परिचर्चा में वरिष्ठ आलोचक नामवर सिंह की उपस्थिति में राजनीतिक दार्शनिक गोपाल गुरु, आदित्य निगम, अनुपमा रॉय और हिलाल अहमद से वरिष्ठ टीवी पत्रकार रवीश कुमार बातचीत करेंगे.

गौरतलब है कि राजकमल प्रकाशन की विमर्शपरक पत्रिका के नए संपादक अपूर्वानंद के संपादन में जो पहले दो अंक (अंक 53-54) 'भारतीय जनतंत्र का जायजा' विषय पर केन्द्रित हैं.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay