एडवांस्ड सर्च

भारतीय साहित्य की 500 किताबें छापेगी हॉवर्ड यूनिवर्सिटी

भारतीय साहित्य जितना पुराना है, उतना ही गहरा भी है. भारतीय साहित्य का परचम अब विदेशी विश्वविद्यालयों में भी लहराएगा. हॉवर्ड यूनिवर्सिटी भारतीय साहित्य से जुड़ी 500 किताबों को छापने का फैसला किया है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited by: विकास त्रिवेदी]नई दिल्ली, 06 January 2015
भारतीय साहित्य की 500 किताबें छापेगी हॉवर्ड यूनिवर्सिटी Symbolic Image

भारतीय साहित्य जितना पुराना है, उतना ही गहरा भी है. भारतीय साहित्य का परचम अब विदेशी विश्वविद्यालयों में भी लहराएगा. हॉवर्ड यूनिवर्सिटी भारतीय साहित्य से जुड़ी 500 किताबों को छापने का फैसला किया है.

यूनिवर्सिटी भारतीय साहित्य की अमूल्य धरोहरों की 500 किताबों पर एक सीरीज प्रकाशित करेगी. यूनिवर्सिटी के साथ इस काम में इंफोसिस संस्थापक नारायण मूर्ति के बेटे रोहन मूर्ति भी शामिल रहेंगे. इस योजना के तहत डिजिटल और प्रिंट फॉरमेट पर हर साल करीब पांच किताब छापी जाएंगी.

इस योजना के शुरू में सूरदास, मनु साहित्य और अकबर समेत पांच किताबें प्रकाशित की जाएंगी. योजना के 2115 तक पूरा हो जाने की उम्मीद है. हॉवर्ड यूनिवर्सिटी भारतीय साहित्य के पद्य, गद्य, इतिहास, दर्शन, बौद्ध, मुस्लिम, हिन्दू ग्रंथ को भी छापेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay