एडवांस्ड सर्च

यौम-ए-पैदाइश पर याद आए कवि काजी नजरुल इस्लाम

बागी बांग्लादेशी कवि काजी नजरुल इस्लाम का 116वां जन्मदिन उनके आसनसोल स्थित गृहनगर चुरुलिया में मंगलवार को मनाया गया.

Advertisement
aajtak.in
अनिल गिरि [Edited By: कुलदीप मिश्र]आसनसोल, 26 May 2015
यौम-ए-पैदाइश पर याद आए कवि काजी नजरुल इस्लाम Nazrul Islam

बागी बांग्लादेशी कवि काजी नजरुल इस्लाम का 116वां जन्मदिन उनके आसनसोल स्थित गृहनगर चुरुलिया में मंगलवार को मनाया गया.

इस मौके पर नजरुल एकेडमी ने चुरुलिया में प्रभात फेरी निकाली. इसमें काफी संख्या में स्कूली छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया. इसके बाद नजरुल इस्लाम के पड़पोतों और स्थानीय लोगों ने उनकी मजार पर श्रद्धांजलि अर्पित की.

राज्य सरकार ने भी इस मौके पर कार्यक्रम आयोजित किया. इस मौके पर राज्य मंत्री सुब्रत मुखर्जी, मोले घटक, रवि रंजन चटर्जी और स्वपन देबनाथ भी मौजूद थे. इस मौके पर यहां सात दिनों का एक मेला भी आयोजित कराया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay