एडवांस्ड सर्च

Advertisement

असम: रंग लाया गोगोई का राजनीतिक कौशल

उग्रवादी संगठन उल्फा को बातचीत के लिए तैयार करने और असम को दिवालियापन के कगार से वापस लाने वाले राज्य के मुख्यमंत्री तरूण गोगोई ने प्रशासनिक एवं राजनीतिक कौशल से कांग्रेस को लगातार तीसरी बार सत्ता में कायम रख लिया.
असम: रंग लाया गोगोई का राजनीतिक कौशल तरूण गोगोई
भाषागुवाहाटी, 13 May 2011

उग्रवादी संगठन उल्फा को बातचीत के लिए तैयार करने और असम को दिवालियापन के कगार से वापस लाने वाले राज्य के मुख्यमंत्री तरूण गोगोई ने प्रशासनिक एवं राजनीतिक कौशल से कांग्रेस को लगातार तीसरी बार सत्ता में कायम रख लिया.

प्रसन्नचित्त स्वभाव और बेबाक राय रखने वाले 75 वर्षीय गोगोई केंद्रीय मंत्री भी रह चुके हैं. वह लोकसभा के लिए छह बार चुने जा चुके हैं. असम में गोगोई के पिछले 10 साल के शासन के दौरान उल्फा सहित कई उग्रवादी संगठनों को वार्ता के लिए तैयार किया गया और राज्य की वित्तीय स्थिरता मजबूत हुई.

गोगोई ने असम गण परिषद के बाद राज्य में मुख्यमंत्री पद की बागडोर 17 मई 2001 को संभाली थी. उन्हें उग्रवादी हिंसा और वित्तीय अस्थिरता से राज्य को बाहर लाने की चुनौती का सामना करना पड़ा.

गौरतलब है कि राज्य कर्ज में इस कदर डूबा हुआ था कि सरकारी कर्मचारियों को समय पर वेतन तक नहीं मिल पाता था.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay