एडवांस्ड सर्च

Advertisement

असम: छिटपुट हिंसा के बीच 70 फीसदी मतदान

चुनाव आयोग के अनुसार असम में सोमवार को विधानसभा चुनाव में मतदान के दूसरे और अंतिम चरण में 70.35 प्रतिशत मतदान हुआ.
असम: छिटपुट हिंसा के बीच 70 फीसदी मतदान असम में मतदान
आजतक ब्‍यूरो/भाषागुवाहाटी, 11 April 2011

चुनाव आयोग के अनुसार असम में सोमवार को विधानसभा चुनाव में मतदान के दूसरे और अंतिम चरण में 70.35 प्रतिशत मतदान हुआ. दिलचस्प बात यह रही कि राज्य में पहली बार बड़ी संख्या में महिला मतदाताओं ने वोट डाले.

मतदान कुलमिलाकर शांतिपूर्ण रहा. उप चुनाव आयुक्त आलोक शुक्ला ने मतदान की समाप्ति के बाद संवाददाताओं को बताया, ‘64 सीटों के चुनाव के लिए दूसरे चरण में 70.35 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. मतदान शांतिपूर्ण रहा.’

126 सदस्यीय राज्य विधानसभा चुनाव के पहले चरण में चार अप्रैल को 62 सीटों के लिए मतदान हुआ था और कुल 73 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया था. पहले चरण में भी मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा था.

राज्य के 14 जिलों की 64 विधानसभा सीटों के लिए हुए मतदान से 496 उम्मीदवारों का राजनीतिक भाग्य इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों में बंद हो गया. इनमें राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता प्रफुल्ल कुमार महंत, अगप के अध्यक्ष चन्द्र मोहन पटवारी और वरिष्ठ मंत्री हिमांत विश्व शर्मा और रकीबुल हसन शामिल है. चुनावी किस्मत आजमा रहे इन उम्मीदवारों में 47 महिलायें भी शामिल हैं इनमें राज्य की कृषि मंत्री प्रमिला रानी ब्रह्मा समेत छह महिला विधायक प्रमुख हैं. पहले चरण के चुनाव में 38 महिला उम्मीदवारों ने हिस्सा लिया था.

शुक्ला ने बताया कि रंगिया निर्वाचन क्षेत्र में चार मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं और केन्द्रीय अर्धसैनिक बलों के बीच झड़प के बाद वहां मतदान रोक दिया गया. इसके अलावा उदालगिरी निर्वाचन में भी एक मतदान केन्द्र पर मतदान रोक दिया गया क्योंकि वहां कुछ लोगों ने जबदस्ती घुसकर मतदान करने का प्रयास किया. इन मतदान केन्द्रों पर पुनर्मतदान कराया जाना तय है. इन 64 निर्वाचन क्षेत्रों के कुल 96,62,743 मतदाताओं के लिए साढे 12 हजार मतदान केन्द्र बनाये गये थे.

जिन निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान हुआ वे ढ़ुबरी, कोकराझार, बोंगाइगांव, गोलपारा, बारपेटा, कामरूप (मेट्रो), कामरूप ग्रामीण, नालबाड़ी, बाकसा, चिरंग, उदालगुरी, डर्रांग, मोरीगांव और नागांव जिलों में स्थित हैं. निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की 345 कंपनियां तैनात की थीं. राज्य में दस वर्षों से सत्तारूढ़ कांग्रेस ने सभी 64 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं, जबकि भाजपा 58, असम गण परिषद 53, एनसीपी 18 और तृणमूल कांग्रेस 58 सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

इनके अलावा एआईयूडीएफ ने 49, माकपा ने नौ और भाकपा ने सात सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं. इन राजनीतिक दलों के अलावा 178 निर्दलीय उम्मीदवार भी मैदान में हैं. पहले चरण के मतदान में मुख्यमंत्री तरूण गोगोई, वरिष्ठ मंत्री प्रद्युत बोरदोलोई, अजंता नियोग, पृथ्वी मांझी, गौतम रॉय, भरत चंद्र नारा, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रंजीत दत्ता, असम गण परिषद (अगप) के पूर्व अध्यक्ष वृंदावन गोस्वामी और भाकपा के राष्ट्रीय परिषद के सदस्य प्रमोद गोगोई सहित कुल 485 उम्मदवारों का राजनीतिक भविष्य ईवीएम में बंद हो गया था. मतगणना 13 मई को होगी.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay