एडवांस्ड सर्च

भूपेंद्र सिंह हुड्डा दुबारा बने हरियाणा के सीएम

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने रविवार को हरियाणा की राजनीति में नई इबारत लिख दी. उन्होंने लगातार दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. राज्यपाल जगन्नाथ पहाड़िया ने उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.

Advertisement
Sahitya Aajtak 2018
भाषाचंडीगढ़, 31 March 2011
भूपेंद्र सिंह हुड्डा दुबारा बने हरियाणा के सीएम

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने रविवार को हरियाणा की राजनीति में नई इबारत लिख दी. उन्होंने लगातार दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. राज्यपाल जगन्नाथ पहाड़िया ने उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. उनके साथ किसी अन्य मंत्री ने शपथ ग्रहण नहीं ली.

पंजाब से अलग होकर 1966 में देश के नक्शे पर एक अलग राज्य के रूप में अपनी पहचान बनाने के बाद हरियाणा के राजनीतिक इतिहास में पहली बार कोई राजनीतिक दल लगातार दूसरी बार सरकार बनाने जा रहा है. कांग्रेस के खाते में यह उपलब्धि दर्ज कराने का श्रेय इतिहास में भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नाम से दर्ज किया जाएगा. यह अलग बात है कि इस बार उन्हें सरकार बनाने के लिए निर्दलीयों का सहारा लेना पड़ रहा है.

लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री की शपथ लेने वाले हुड्डा को न केवल राज्य में पहली बार किसी एक ही राजनीतिक दल की दोबारा सत्ता में वापसी कराने का श्रेय जाता है बल्कि उन्होंने प्रदेश की राजनीति में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने वाले लाल फेक्टर (देवीलाल, भजनलाल और बंसीलाल) के चक्रव्यूह को तोड़ने में भी अहम भूमिका अदा की है. हुड्डा सबसे पहले 1991 में प्रदेश के दिग्गज नेता और पूर्व उप प्रधानमंत्री देवीलाल को रोहतक लोकसभा सीट से हराकर राष्ट्रीय राजनीति में पहुंचे थे. उन्होंने पिछले विधानसभा चुनाव में जोड़तोड़ की राजनीति के महारथी माने जाने वाले अपनी ही पार्टी के चार बार मुख्यमंत्री रहे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भजनलाल को चारों खाने चित्त कर मुख्यमंत्री की कुर्सी हथिया ली थी.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay