कहानी: कब फिर से गूंजेगा लाइट, कैमरा और कश्मीर?