दूसरों का काटते थे चालान, अब खुद भरेंगे 32,000 रुपए का फाइन