जिन्ना नहीं गन्ना जीता: अजित सिंह