एडवांस्ड सर्च

बजट पर बोले नीतीश- नोटबंदी पर किया था समर्थन, अब जवाब चाहिए

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा प्रस्तुत आम बजट को पूरी तरीके से निराश करने वाला और 'बोरिंग' कहा है. आम बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए नीतीश ने कहा कि बजट में नारों के अलावा और कुछ भी नहीं है. बजट में रेलवे के बारे में प्रस्तावों पर बोलते हुए नीतीश ने कहा कि मोदी सरकार के अंदर रेलवे का बंटाधार हो गया है.

Advertisement
aajtak.in
रोहित कुमार सिंह पटना , 01 February 2017
बजट पर बोले नीतीश- नोटबंदी पर किया था समर्थन, अब जवाब चाहिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा प्रस्तुत आम बजट को पूरी तरीके से निराश करने वाला और 'बोरिंग' कहा है. आम बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए नीतीश ने कहा कि बजट में नारों के अलावा और कुछ भी नहीं है. बजट में रेलवे के बारे में प्रस्तावों पर बोलते हुए नीतीश ने कहा कि मोदी सरकार के अंदर रेलवे का बंटाधार हो गया है.

नीतीश ने कहा, 'बजट भाषण काफी बोरिंग था और इसमें अर्थव्यवस्था को लेकर कोई नई उम्मीद नहीं दिख रही है. इस बजट से साफ हो गया है कि आने वाले दिनों में सिर्फ नारों की गूंज रहेगी'.

नोटबंदी के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन करने वाले नीतीश ने कहा कि आम बजट में नोटबंदी के अर्थव्यवस्था पर असर के बारे में कोई जिक्र नहीं था और बजट में यह बात भी नहीं बताई गई कि आखिर नोटबंदी से कितना काला धन बाहर आया.

नीतीश कुमार ने कहा, 'नोट बंदी पर मैंने सरकार का समर्थन किया था, इसलिए मुझे जवाब चाहिए. मैंने उम्मीद की थी कि वित्तमंत्री नोट बंदी से अर्थव्यवस्था पर हुए असर के बारे में जिक्र करेंगे और कितना काला धन बाहर आया इसके बारे में भी बताएंगे पर ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. बजट में इस बात का जिक्र भी नहीं था कि कितना नकली नोट वापस बैंकों में जमा कराया गया'.

बिहार के साथ अन्याय
बजट में बिहार की अनदेखी पर नीतीश ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी द्वारा घोषित 1.65 लाख करोड़ का विशेष पैकेज के बारे में भी कोई जिक्र नहीं किया गया ना ही बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने पर बयान दिया गया. नीतीश ने कहा, ' बजट में बिहार के साथ अन्याय हुआ है. न ही विशेष पैकेज की चर्चा है और ना ही विशेष राज्य का दर्जा देने की. केंद्र सरकार के 3 साल बीत जाने के बाद भी बिहार से किया गया वादा पूरा नहीं हुआ है.'

बिहार के मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार द्वारा प्रचारित की जा रही डिजिटल भुगतान को भी पूरी तरीके से खारिज कर दिया और कहा कि देश में सौ फिसदी कैशलेस ट्रांजेक्शन संभव नहीं है. नीतीश ने कहा, सौ फिसदी कैशलेस भुगतान करना इस देश में संभव नहीं है. देश की आधारभूत संरचना इसके लिए तैयार नहीं है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay