एडवांस्ड सर्च

रेल बजट: शताब्दी में होंगे ऑटोमैटिक गेट, राजधानी में डिस्पोजेबल चादरें!

आने वाले रेल बजट में केंद्र सरकार शताब्दी ट्रेनों में ऑटोमैटिक दरवाजे और राजधानी में डिस्पोजेबल चादरों का तोहफा दे सकती है. खबर है कि सरकार शताब्दी और राजधानी ट्रेनों के लिए कुछ नए प्रस्ताव लेकर आ रही है.

Advertisement
aajtak.in
Aajtak.in [Edited By: कुलदीप मिश्र]नई दिल्ली, 02 July 2014
रेल बजट: शताब्दी में होंगे ऑटोमैटिक गेट, राजधानी में डिस्पोजेबल चादरें! Rail Budget

आने वाले रेल बजट में केंद्र सरकार शताब्दी ट्रेनों में ऑटोमैटिक दरवाजे और राजधानी में डिस्पोजेबल चादरों का तोहफा दे सकती है. खबर है कि सरकार शताब्दी और राजधानी ट्रेनों के लिए कुछ नए प्रस्ताव लेकर आ रही है. बताया जा रहा है कि यात्री डिब्बों में आग पर काबू पाने वाली प्रणाली स्थापित करने का ऐलान भी किया जा सकता है.

एनडीए सरकार 8 जुलाई को अपना पहला रेल बजट पेश करने वाली है. इस रेल बजट में उच्च क्षमता वाले दुग्ध वैन और नमक ढुलाई के हल्के डब्बों के निर्माण का भी जिक्र हो सकता है. विनिर्माण क्षेत्र की मांग के मद्देनजर रेलवे ज्यादा इस्पात के परिवहन के लिए और अधिक क्षमता के वैगनों के विनिर्माण की बजटीय योजना को अंतिम स्वरूप दे रही है. इन वैगनों में 3,994 टन भार तक की इस्पात (कॉयल) की ढुलाई की जा सकती है. फिलहाल ऐसे वैगनों की ढुलाई क्षमता 2346 टन है.

पार्सल गतिविधियों से ज्यादा रेवेन्यू प्राप्त करने के लिए रेल बजट में उच्च क्षमता वाले पार्सल वैन के विकास के प्रावधान का जिक्र हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक रेल मंत्री सदानंद गौड़ा अपने पहले रेल बजट में सवारियों को बेहतर सुविधाएं पहुंचाने और रेलगाड़ी में सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने पर ध्यान दे सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay