एडवांस्ड सर्च

Advertisement

पूर्वोत्तर के लिए 53,706 करोड़ का प्रावधान

नरेंद्र मोदी सरकार ने वर्षों से अलग थलग पड़े पूर्वोत्तर राज्यों के लिए 2014-15 के आम बजट में 53,706 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं. बजट में पूर्वोत्तर के लिए एक नये टीवी चैनल, एक स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी, एक कृषि अनुसंधान केंद्र, एक हिमालय अध्ययन केंद्र, जैविक खेती विकास योजना के साथ ही रेल और सड़क संपर्क योजना के लिए क्रमश: 1,000 करोड़ रुपये एवं 2,000 करोड़ रुपये की भी घोषणा की गई.
पूर्वोत्तर के लिए 53,706 करोड़ का प्रावधान पूर्वोत्तर में रेलवे के विकास के लिए बजट में 1000 करोड़ रुपये का प्रावधान
Aajtak.in [Edited By: अभिजीत श्रीवास्तव]नई दिल्ली, 10 July 2014

नरेंद्र मोदी सरकार ने वर्षों से अलग थलग पड़े पूर्वोत्तर राज्यों के लिए 2014-15 के आम बजट में 53,706 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं. बजट में पूर्वोत्तर के लिए एक नये टीवी चैनल, एक स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी, एक कृषि अनुसंधान केंद्र, एक हिमालय अध्ययन केंद्र, जैविक खेती विकास योजना के साथ ही रेल और सड़क संपर्क योजना के लिए क्रमश: 1,000 करोड़ रुपये एवं 2,000 करोड़ रुपये की भी घोषणा की गई.

टीवी चैनल का नाम ‘अरुण प्रभा’
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए सप्ताह में सातों दिन 24 घंटे प्रसारित होने वाले एक नए टेलीविजन चैनल की घोषणा की. जेटली ने संसद में आम बजट पेश करते हुए कहा, ‘पूर्वोतर क्षेत्र में 'अरुण प्रभा' नामक एक नया चैनल शुरू होगा, जो सप्ताह में सातों दिन 24 घंटे कार्यक्रम प्रसारित करेगा.’

पूर्वोत्तर रेलवे के लिए 1000 करोड़ रुपये
पूर्वोत्तर में रेल यात्रा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से वहां रेलवे के बुनियादे ढांचे के निर्माण के लिए 1,000 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. राष्ट्रीय बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने लोकसभा में कहा कि यह कोष रेल बजट में पूर्वोत्तर रेल के लिए जारी कोष के अतिरिक्त होगा.

रेलमंत्री सदानंद गौड़ा ने रेल बजट के दौरान मंगलवार को पूर्वोत्तर क्षेत्र की रेल परियोजनाओं के लिए 5,116 करोड़ रुपये आवंटित किया था. रेलवे द्वारा इस क्षेत्र में पारिस्थितिकी पर्यटन और शिक्षा पर्यटन सेवा शुरू करने की संभावना है. गौरतलब है कि इस क्षेत्र में 23 परियोजनाएं चल रही हैं, जिसमें से 11 राष्ट्रीय परियोजनाएं हैं.

जैविक खेती के विकास के लिए 100 करोड़ रुपये
आम बजट में पूर्वोत्तर क्षेत्र में जैविक खेती के विकास के लिए 100 करोड़ रुपये आवंटित किये गये. जेटली ने कहा, ‘पूर्वोत्तर क्षेत्र में जैविक खेती के विकास के लिए 100 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं.’

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay