एडवांस्ड सर्च

Advertisement

सोमनाथ मंद‍िर के 155 फीट ऊंचे श‍िखर तक उठ रहीं समंदर की लहरें

aajtak.in [Edited By: श्यामसुंदर गोयल]
13 June 2019
सोमनाथ मंद‍िर के 155 फीट ऊंचे श‍िखर तक उठ रहीं समंदर की लहरें
1/6
देश में दहशत का पर्याय बना चक्रवाती तूफान 'वायु' गुजरात में भारी तबाही मचा सकता था लेकिन रास्ता बदल जाने के कारण अब वह सौराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों में ही असर डालकर न‍िकल रहा है. तूफान का यह असर भी खतरनाक है.  दुन‍िया भर के ह‍िंदुओं के आस्था का केंद्र सोमनाथ मंद‍िर इस तूफान की चपेट में है. तूफान की वजह से 155 फीट ऊंचे मंद‍िर के श‍िखर तक समंदर की लहरें उछाल मार रही हैं. इस वजह से मंद‍िर का गेट भी ध्वस्त हो गया है.
सोमनाथ मंद‍िर के 155 फीट ऊंचे श‍िखर तक उठ रहीं समंदर की लहरें
2/6
सोमनाथ मंद‍िर पर चक्रवाती तूफान वायु का असर हुआ है. यहां समंदर की काफी ऊंची लहरें उठ रही हैं. तूफान की वजह से मंद‍िर के अंदर जाने वाला प्रवेशद्वार भी टूट गया है.
सोमनाथ मंद‍िर के 155 फीट ऊंचे श‍िखर तक उठ रहीं समंदर की लहरें
3/6
गुजरात के श‍िक्षा मंत्री भूपेंद्र स‍िंह चुडासमा ने बताया क‍ि चक्रवाती तूफान की भयावहता को देखते हुए यहां भी अलर्ट जारी क‍िया गया था लेक‍िन फ‍िर भी यह मंद‍िर खुला हुआ है.
सोमनाथ मंद‍िर के 155 फीट ऊंचे श‍िखर तक उठ रहीं समंदर की लहरें
4/6
यहां टूर‍िस्टों को जाने से मना कर द‍िया है लेक‍िन मंद‍िर को बंद नहीं क‍िया गया है. ऐसा इस वजह से क‍िया गया है क‍ि कई सालों से यहां लगातार आरती हो रही है. इस न‍ियम को मंद‍िर प्रबंधन भंग नहीं करना चाहता.
सोमनाथ मंद‍िर के 155 फीट ऊंचे श‍िखर तक उठ रहीं समंदर की लहरें
5/6
मंद‍िर में अभी स्थित‍ि कंट्रोल में है. यहां की स्थित‍ि के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अम‍ित शाह द‍िल्ली से ही नजर रखे हुए हैं. बता दें क‍ि अम‍ित शाह सोमनाथ मंद‍िर प्रबंध सम‍ित‍ि के अध्यक्ष भी हैं.
सोमनाथ मंद‍िर के 155 फीट ऊंचे श‍िखर तक उठ रहीं समंदर की लहरें
6/6
गौरतलब है क‍ि चक्रवाती तूफान 'वायु' गुरुवार को गुजरात में तबाही मचाने वाला था लेक‍िन बुधवार शाम को चक्रवात का रास्ता बदल जाने के कारण अब इसका असर गुजरात के सौराष्ट्र इलाके में ही होने के आसार द‍िखाई दे रहे हैं. इससे पहले चक्रवाती तूफान से न‍िपटने से पहले  500 गांवों के तीन लाख लोगों को सुरक्ष‍ित स्थानों पर पहुंचाया गया. इन्हें 2 हजार जगहों पर रखा गया इनमें से करीब दस हजार टूर‍िस्ट भी थे. ये टूर‍िस्ट पोरबंदर, द्वारका और सोमनाथ में फंसे हुए थे.
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay