एडवांस्ड सर्च

Advertisement

लद्दाख की 5 सबसे खूबसूरत जगह, पर्यटकों के लिए है धरती का स्वर्ग

aajtak.in
05 August 2019
लद्दाख की 5 सबसे खूबसूरत जगह, पर्यटकों के लिए है धरती का स्वर्ग
1/6
केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म कर दिया है. गृहमंत्री अमित शाह ने अनच्छेद 370 हटाने की जानकारी राज्यसभा में दी. इसके अलावा जम्मू कश्मीर और लद्दाख को अलग कर दो नए केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाएंगे. आए इसी कड़ी में जानते हैं कि लद्दाख किन 5 खूबसूरत जगहों के लिए पूरी दुनिया में आकर्षण का केंद्र बना हुआ है.
लद्दाख की 5 सबसे खूबसूरत जगह, पर्यटकों के लिए है धरती का स्वर्ग
2/6
पैंगोंग झील-
ब्लू पैंगोंग झील हिमालय में लेह-लद्दाख के पास स्थित प्रसिद्ध झील है. यह झील 12 किलोमीटर लंबी है और भारत से तिब्बत तक फैली हुई है. यह करीब 43,000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है. यहां का तापमान माइनस 5 डिग्री सेल्सियस से 10 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है.
लद्दाख की 5 सबसे खूबसूरत जगह, पर्यटकों के लिए है धरती का स्वर्ग
3/6
मैग्नेटिक हिल-
लद्दाख के फेमस मैग्नेटिक हिल को ग्रेविटी हिल भी कहा जाता है. गुरुत्वाकर्षण बल के कारण वाहनों के अपने आप आगे बढ़ने की वजह इसे यह नाम दिया गया है. यह पहाड़ी इलाका समुद्र के स्तर से लगभग 14,000 फीट की ऊंचाई पर और लेह शहर से 30 किमी की दूरी पर स्थित है.
लद्दाख की 5 सबसे खूबसूरत जगह, पर्यटकों के लिए है धरती का स्वर्ग
4/6
लेह पैलेस-
लेह पैलेस जिसे के नाम से भी जाना जाता है, जो लेह लद्दाख का एक प्रमुख ऐतिहासिक स्थल है और देश की एक ऐतिहासिक समृद्ध सम्पदाओं में से एक है. इस भव्य और आकर्षक संरचना को 17 वीं शताब्दी में राजा सेंगगे नामग्याल ने एक शाही महल के रूप में बनवाया था और इस हवेली में राजा और उनका पूरा राजसी परिवार रहता था.
लद्दाख की 5 सबसे खूबसूरत जगह, पर्यटकों के लिए है धरती का स्वर्ग
5/6
चादर ट्रैक-
चादर ट्रैक लेह लद्दाख के सबसे कठिन और सबसे साहसिक ट्रेक में से एक है. इस ट्रैक को चादर ट्रैक इसलिए कहा जाता है क्योंकि जांस्कर नदी सर्दियों के दौरान नदी से बर्फ की सफेद चादर में बदल जाती है. चादर फ्रोजन रिवर ट्रैक दूसरे ट्रैकिंग वाली जगह से बिल्कुल अलग है.
लद्दाख की 5 सबसे खूबसूरत जगह, पर्यटकों के लिए है धरती का स्वर्ग
6/6
फुगताल मठ-
फुकताल या फुगताल मठ एक अलग मठ है जो लद्दाख में जांस्कर क्षेत्र के दक्षिणी और पूर्वी भाग में स्थित है. यह उन उपदेशकों और विद्वानों की जगह है जो प्राचीन काल में यहां रहते थे. यह जगह ध्यान करने, शिक्षा, सीखने और एन्जॉय करने की जगह थी. आज दूर-दराज से लोग यहां आते हैं.
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay