एडवांस्ड सर्च

आपके रिटर्न का स्टेटस क्या है, इसको जांचना बहुत आसान है. इसकी जांच इसलिए भी जरूरी है कि कई बार फॉर्म भरने में कुछ गलती हो जाती है और आईटीआर फाइलिंग कम्प्लीट नहीं होती, जो आपको स्टेटस देखकर पता चल जाएगा.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    अभी तक इनकम टैक्स रिटर्न नहीं दाखिल कर पाए हैं, तो अब भी मौका है, इसे तत्काल कर लें. आयकर रिटर्न का फॉर्म आपको बहुत सावधानी से भरना होगा. कुछ गलतियों से बचकर आप सही तरीके से रिटर्न का फॉर्म भर सकते हैं.
    इनकम टैक्स रिटर्न यानी ITR फाइल करने के लिए अब कुछ ही दिन बचे हैं. हर साल की तरह इस साल भी वित्तवर्ष 2018-19 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने की डेडलाइन 31 जुलाई है.
    उन टैक्सपेयर्स को दिक्कत हो रही है जिन्होंने सिक्यूरिटीज की बिक्री पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स हासिल किया है. फॉर्म 16 जारी करने की तिथि 15 जून से 10 जुलाई तक बढ़ा दी गई थी, जिसकी वजह से वेतनभोगी टैक्सपेयर्स अपनी इनकम टैक्स फाइलिंग की प्रक्रिया हाल में ही शुरू कर पाए हैं.
    आकलन वर्ष 2018-19 के लिए आयकर रिटर्न फाइल करने की आखिरी तिथि 31 जुलाई है. इस दिन के बाद आईटीआर फाइल करने पर जुर्माना लग सकता है.
    केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) का साफ कहना है कि आईटीआर-2 और आईटीआर-3 सहित आयकर रिटर्न भरने के लिए अधिसूचित किसी भी फॉर्म में कोई बदलाव नहीं किया गया है.
    आकलन वर्ष 2019-20 के लिए आयकर अधिकारी अब इनकम स्टेटमेंट से जुड़े रिम्बर्समेंट और भत्तों के लिए पूछताछ कर सकते हैं. ऐसा करने वालों को अब आय को लेकर झूठी सूचना देने के लिए टैक्स नोटिस भी मिल सकता है.
    अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी (बेंगलुरू) की ओर से जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार साल 2016 से 2018 के बीच देश के करीब 50 लाख लोगों की नौकरियां चली गईं. साल 2016 वो ही साल जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने देश में नोटबंदी का ऐलान किया था और 1000-500 के नोट बंद कर दिए थे. वहीं चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए तमिलनाडु में चुनाव आयोग का एक्शन जारी है.
    01:03
    नए वित्‍तीय वर्ष में नौकरीपेशा लोगों को वित्‍त वर्ष 2018-19 का इनकम टैक्‍स रिटर्न भरना होगा. इसके लिए आयकर विभाग की ओर से फॉर्म जारी किया जा चुका है. इस फॉर्म के जरिए नौकरीपेशा लोगों को अपनी सालाना कमाई की जानकारी देनी होती है. इस फॉर्म को भरने के कई बड़े फायदे होते हैं.
    नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत हो चुकी है. इस नए साल में नौकरीपेशा लोगों को पिछले वित्त वर्ष 2018-19 के लिए आयकर रिटर्न भरना होगा. इसके लिए फॉर्म जारी कर दिए गए हैं.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay