एडवांस्ड सर्च

आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री और तेलगु देशम पार्टी के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू मध्यस्थ की भूमिका में लगातार विपक्षी दलों के नेताओं से मिल रहे हैं.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    अंतिम दौर के मतदान से पहले जब दिल्ली से लेकर लखनऊ तक गठबंधन के गुणा-भाग में विपक्ष मशगूल है और प्रधानमंत्री मोदी दो किलोमीटर पैदल चलकर केदारनाथ धाम पहुंच गए. श्रद्धा से सिर झुकाया और गुफा में ध्यानमग्न हो गए.
    आखिरी चरण की वोटिंग बाकी है, मतगणना 23 मई को है, लेकिन दिल्ली से लेकर आंध्र प्रदेश, और उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने के लिए सुगबुगाहटें तेज हो गई है. अगले पांच तक हिन्दुस्तान की सत्ता पर कौन राज करेगा, इसे लेकर समीकरण जोड़े-तोड़े जाने लगे हैं. इस पूरी कवायद में आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू एक मध्यस्थ बनकर उभरें हैं. वह केंद्र में गैर बीजेपी सरकार बनाने के लिए सारे संभावित परिदृश्यों पर विचार कर रहे हैं
    दक्षिण के 2 बड़े नेता मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और टीआरएस अध्यक्ष के चंद्रशेखर राव विपक्ष को एकजुट करने के झंडाबरदार बनकर सामने आए हैं. मिशन सरकार पर निकले चंद्रबाबू नायडू ने शनिवार सुबह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की. इस मुलाकात के बाद नायडू लखनऊ के लिए रवाना हो जाएंगे जहां वो मायावती और अखिलेश यादव से आज मिलने वाले हैं.
    चंद्रबाबू नायडू ने कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी से पहली मुलाकात की और अपने एजेंडे को साझा किया. दोनों ने पश्चिम बंगाल में चुनाव अभियान पर समय से पहले प्रतिबंध लगाने, देशभर में ईवीएम की खराबी और चुनाव आयोग के रवैये सहित कई मुद्दों पर चर्चा की. बताया जा रहा है कि चंद्रबाबू नायडू यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलना चाहते थे.
    राहुल गांधी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह का बहुत अनुभव है. मैं नरेंद्र मोदी नहीं हूं कि अनुभवी लोगों दरकिनार कर दूं. हम सोनिया जी के अनुभव का फायदा उठाएंगे.
    रायबरेली सदर से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह और बीडीसी सदस्यों पर हुए हमले मामले में पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. इसमें एक आरोपी प्रधान संघ का अध्यक्ष भी है. ये गिरफ्तारियां सीसीटीवी फुटेज के आधार पर की गई हैं. पढ़िए पूरी खबर....
    प्रियंका के इस बयान ने सालों पुराने रिश्तों की उन परतों को खोल दिया जो काफी दिनों से दबी हुईं थीं. बच्चन और गांधी परिवार का रिश्ता दशकों पुराना है. इसमें पंडित जवाहर लाल नेहरू से लेकर इंदिरा गांधी और फिर राजीव गांधी, बच्चन परिवार के सदस्यों के करीबी रहे. अमिताभ और राजीव की दोस्ती किसी से छुपी नहीं है.
    लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजों से पहले सोनिया गांधी विपक्ष दलों को एकजुट करने के लिए सक्रिय हो गई हैं. वहीं, उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार के मंत्री से रंगदारी मांगने का मामला सामने आया है. पढ़िए शुक्रवार सुबह की 5 बड़ी खबरें.
    लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे से पहले ही जोड़-तोड़ की राजनीति शुरू हो गई है. यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी विपक्षी दलों को एकजुट करने के लिए सक्रिय हो गई हैं. ऐसे में नरेंद्र मोदी को दोबारा सत्ता में आने से रोकने के लिए कांग्रेस कर्नाटक मॉडल की तर्ज पर भी केंद्र में सरकार गठन का दांव चल सकती है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay