एडवांस्ड सर्च

असम के परिसीमन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई. परिसीमन के आदेश पर कपिल सिब्बल ने सुनवाई के दौरान कहा कि जब असम अशांत क्षेत्र है, ऐसे में कैसे यहां परिसीमन की शुरुआत हो सकती है. उन्होंने प्रक्रिया को लेकर सवाल खड़े किए हैं.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    एयर इंडिया मिडिल सीट केस की सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को कहा कि इस केस की जांच एक समिति कर रही है. नागरिकों का स्वास्थ्य सर्वोपरि है.
    सुप्रीम कोर्ट में दोषियों की फांसी की सजा में दया याचिका और अन्य लंबी कानूनी प्रक्रियाओं को कम करने के संबंध में दाखिल एक याचिका की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि राष्ट्रपति को एक निश्चित समयसीमा के भीतर निर्णय के लिए हम निर्देशित नहीं कर सकते.
    जनहित याचिका में मांग की गई है कि देश भर में निजी अस्पताल में कोरोना उपचार की लागत न्यूनतम हो और धर्मार्थ ट्रस्ट इसे बिना किसी लाभ के आधार पर करें.
    9 दिसंबर 2019 को मोदी सरकार ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पेश किया. इसके तहत भारत के पड़ोसी देशों अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश से आए हिंदू, जैन, पारसी, सिख, बौद्ध और ईसाई शरणार्थियों को नागरिकता देने की बात कही गई थी.
    खत में सीनियर वकीलों ने कहा था कि सरकार ने प्रवासी श्रमिकों के पलायन के बारे में कोर्ट को विरोधाभासी और गलत जानकारी दी. इस खत के बाद प्रवासियों के मसले पर सुप्रीम कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया था.
    केंद्र की मोदी सरकार की एक साल में कई उपलब्धियां रही हैं, लेकिन केंद्र बनाम राज्य के बीच छत्तीस का आंकड़ा भी रहा है. हालांकि, छह साल पहले जब नरेंद्र मोदी गुजरात के सीएम से देश के पीएम की कुर्सी पर काबिज हुए थे तो उन्होंने कहा था कि हम राज्य सरकारों से साथ टीम इंडिया की तरह मिलकर काम करेंगे, लेकिन असल में ऐसा हो नहीं सका.
    00:46
    सुप्रीम कोर्ट ने लॉकडाउन में फंसे और भीषण गर्मी में सड़कों पर पैदल जा रहे प्रवासी मजदूरों की बदहाली पर गहरी चिंता जताते हुए खुद संज्ञान लिया. कोर्ट ने केंद्र सरकार व सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नोटिस जारी कर इस पर गुरुवार तक जवाब देने का आदेश दिया है. देखें वीडियो.
    सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार व सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नोटिस जारी कर इस पर गुरुवार तक जवाब देने को कहा है.
    प्रदेश की विभिन्न जेलों में बंद 2234 सजायाफ्ता कैदियों को 8 सप्ताह के विशेष परोल पर रिहा किया गया था. अब उनकी परोल की अवधि बढ़ा दी गई है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay