एडवांस्ड सर्च

पीएन विजय ने नरेंद्र मोदी सरकार के फैसले लेने की प्रक्रिया पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार के कुछ फैसले इतने गुप्त होते हैं कि सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों को पता नहीं चल पाता है. उन्होंने कहा कि इससे गलत फैसले सरकार लेती है.  पीएन विजय ने कहा कि नोटबंदी ने इकोनॉमी की कमर तोड़ दी है.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चेतावनी दी है कि चीन के साथ ट्रेड डील विफल होने पर टैरिफ को बढ़ा सकते हैं.
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच BRICS समिट के दौरान क्षेत्रीय आर्थ‍िक साझेदारी समझौते (RCEP) पर भी बातचीत हुई है. चीन ने RCEP के बारे में भारत की चिंताओं को दूर करने की इच्छा जताई है.
    दोनों नेताओं की मुलाकात बुधवार को ब्राजील की राजधानी ब्रासिलिया में हुई. पीएम मोदी इसके बाद ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो से भी मिलेंगे. दो प्रमुख देशों के राष्ट्राध्यक्ष से मुलाकात के बाद पीएम मोदी चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से भी मिलेंगे.
    पीएम मोदी ने कहा है कि RCEP समझौते का मौजूदा स्वरूप बुनियादी भावना और मान्य मार्गदर्शक सिद्धांतों को पूरी तरह जाहिर नहीं करता है. यह मौजूदा परिस्थिति में भारत के दीर्घकालिक मुद्दों और चिंताओं का संतोषजनक रूप से समाधान भी पेश नहीं करता है.
    भारत ने घरेलू उद्योगों के हित में सोमवार को एक बड़ा फैसला लिया. भारत RCEP यानी क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी में शामिल नहीं होगा और देश के बाजार सस्ते विदेशी सामान से नहीं भरेंगे. RCEP एक ऐसा समझौता है, जिस पर साइन करने से भारत चीन के चंगुल में बुरी तरह फंस सकता था. लेकिन मोदी सरकार ने घरेलू उद्योगों के हितों को देखते हुए इस समझौते में शामिल न होने का फैसला लिया है.
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत की चिंताओं को लेकर दृढ़ हैं और घरेलू उद्योगों के हित को लेकर कोई भी समझौता नहीं करने का फैसला लिया है.
    एक डर यह है कि आरसीईपी से भारतीय बाजार में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के डेयरी उेत्पादों की बाढ़ आ जाएगी
    तीन दिन के आधिकारिक दौरे पर थाईलैंड पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से मिलेंगे. पीएम मोदी अस्ट्रेलियाई पीएम स्कॉट मॉरिसन से भी मुलाकात करेंगे.
    केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने आरसीईपी और एफटीए को लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी पर जमकर निशाना साधा और ताबड़तोड़ सवाल दागे. गोयल ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी आरसीईपी और एफटीए को लेकर अचनाक से जाग गई हैं. उन्होंने सवाल किया कि उस समय सोनिया कहां थीं, जब आरसीईपी देशों के साथ व्यापार घाटा साल 2004 में 7 बिलियन डॉलर से बढ़कर साल 2014 में 78 बिलियन डॉलर पहुंच गया था.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay