एडवांस्ड सर्च

मध्य प्रदेश कांग्रेस में सिंधिया को महाराष्ट्र की जिम्मेदारी दिए जाने के फैसले को लेकर मतभेद सामने आ गया है. सिंधिया समर्थक मानी जाने वालीं प्रदेश की कमलनाथ सरकार में महिला एवं बाल विकास विभाग मंत्री इमरती देवी ने पार्टी के इस निर्णय पर नाराजगी जताई है.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    दिल्ली विधानसभा में मानसून सत्र के दूसरे दिन की शुरूआत भी काफी हंगामे के साथ हुई. हंगामा बीजेपी के विधायकों ने शुरू किया.
    ओमप्रकाश राजभर के मुताबिक दोनों नेताओं के बीच में होने वाली बातचीत बेहद कारगर रही और अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो दोनों पार्टियां साथ में मिलकर आगामी उपचुनाव और विधानसभा चुनाव लड़ सकती हैं.
    दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी भी कूद गए हैं साथ ही मनोज तिवारी ने बड़ा बयान दिया. उन्होंने कहा कि जहां रवि दास जी का मंदिर था मंदिर वहीं बनेगा. बीजेपी चाहे कोर्ट जाना पड़े  या फिर सरकार को इसको लेकर कोई फैसला लेना हो, संत रविदास जी का मंदिर वहीं बनवाएंगे.
    20:24
    अनुच्छेद 370 के मसले पर दिल्ली विधानसभा में आज भी जमकर हंगामा किया गया. बीजेपी के सदस्य चाहते थे कि इस मसले पर पूरा सदन केन्द्र सरकार को बधाई दे लेकिन स्पीकर ने उनको ऐसा करने की अनुमति नहीं दी. स्पीकर का कहना था कि इस मसले पर मुख्यमंत्री सदन में अपना बयान दे चुके हैं, ऐसे में इसपर चर्चा की इजाजत नहीं दी जा सकती. इसके बाद स्पीकर ने विपक्ष के नेता विजेन्द्र गुप्ता को पूरे सत्र के लिए और मनजिंदर सिंह सिरसा को आद दिनभर के लिए निलंबित कर दिया. देखें दो और दो साढ़े पांच का ये एपिसोड.
    दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष राम निवास गोयल ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी के विधायक और सदन में नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता को असंसदीय भाषा का इस्तेमाल करने के चलते पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया.
    कांग्रेस के जयराम रमेश ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्य के महत्व को स्वीकार करने की सलाह दी और कहा कि उनके शासन का मॉडल पूरी तरह से नकारात्मक गाथा नहीं है. रमेश ने एक कदम और आगे जाकर पीएम मोदी की लोगों से जुड़ने वाली भाषा की तारीफ भी कर दी.
    भारतीय टीम की तरफ से 40 से अधिक इंटरनेशनल टेस्ट मैच खेल खेल चुके उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान से खेल विभाग छीन लिया गया है. आखिर क्या है इसके पीछे वजह?
    उत्तर प्रदेश के ताकतवर मंत्रियों में से एक सिद्धार्थनाथ सिंह से चिकित्सा एवं स्वास्थ्य जैसा महकमा छीन लेने को योगी सरकार का चौंकाने वाला कदम माना जा रहा. सवाल उठ रहे हैं कि क्या यूपी की बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था को पटरी पर न लाने का ठीकरा उन पर फूटा है.
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अब तीन मंत्री होंगे. योगी सरकार की मंत्रिपरिषद में अब वाराणसी उत्तरी सीट से विधायक रवींद्र जायवसाल को भी जगह मिली है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay