एडवांस्ड सर्च

केंद्र सरकार सुस्त पड़ रही अर्थव्यवस्था को फिर से रफ्तार देने के लिए तमाम कदम उठा रही है. केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को बताया कि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए इनकम टैक्स की दरों को तर्कसंगत बनाने समेत कुछ अन्य उपायों पर काम किया जा रहा है.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    अकाली दल और आम आदमी पार्टी ने भी सरकारी कर्मचारियों को वक्त पर तनख्वाह ना दे पाने को पंजाब सरकार और पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत बादल की विफलता करार दिया.
    पी चिदंबरम ने महिला सुरक्षा के मुद्दे पर भी सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि यूपीए कार्यकाल में जब वे वित्त मंत्री बने थे, तब महिला सुरक्षा के लिए निर्भया फंड में 3100 करोड़ का आवंटन किया था.
    सुस्‍त पड़ी इकोनॉमी को बूस्‍ट देने के लिए सरकार अभी और फैसले ले सकती है. केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसके संकेत दिए हैं.
    ट्रंप का कहना है कि चीन संपन्न देश है इसलिए उन्हें वर्ल्ड बैंक से लोन की आवश्यकता नहीं है. चीन को अपना भार ख़ुद ही उठाना चाहिए. वर्ल्ड बैंक चीन के बदले विश्व के अन्य गरीब देशों की सहायता करे तो बेहतर होगा.
    एक पोस्ट में उनके बयान के रूप में लिखा गया है कि मैं प्याज नहीं खाती, इसलिए मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता. लेकिन क्या निर्मला सीतारमण ने सच में ऐसा कहा था?
    सुशील मोदी की मानें तो बजट का 18 फीसदी बिहार सरकार शिक्षा पर खर्च करती है. यानी करीब 32,000 करोड़ रुपये शिक्षा पर खर्च करने की योजना है.
    हेमंत बिस्वा सरमा ने नागरिकता संशोधन बिल की चर्चा करते हुए कहा कि इस बिल के जरिए वैसे लोगों को नागरिकता दी जाएगी जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक रूप से सताये गए हैं. जब उनसे कहा गया है कि आखिर इस बिल से बाहर से आने वाले मुसलमानों को बाहर क्यों रखा गया है तो उन्होंने कहा कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में किसी भी मुस्लिम को धार्मिक आधार पर नहीं सताया जाता है.
    इंडिया टुडे कॉन्क्लेव ईस्ट 2019 के पहले दिन असम के वित्त मंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि अगर एक ओर मौलाना को सैलरी दी जाती है जबकि पुजारी को नहीं दी जाती है तो क्या यह मुस्लिम तुष्टिकरण नहीं है. कोई इस बारे में नहीं पूछता है.
    इंडिया टुडे कॉन्क्लेव ईस्ट 2019 के पहले दिन असम के वित्त मंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल और एनआरसी दोनों ही अलग चीज हैं. यह असम के लिए कॉम्बो पैक की तरह है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay