एडवांस्ड सर्च

मोदी सरकार की सत्‍ता में वापसी के बीच भारतीय शेयर बाजार ने गुरुवार को नया मुकाम हासिल किया.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    लोकसभा चुनाव के नतीजे कल यानी गुरुवार को आने वाले हैं. इन नतीजों के साथ देश की सियासी तस्‍वीर साफ हो जाएगी. चुनावी नतीजों पर ही शेयर बाजार की स्थिति स्‍पष्‍ट होगी.
    लोकसभा चुनाव के नतीजे कल यानी 23 मई को आने वाले हैं. इससे पहले शेयर बाजार की शुरुआत सपाट रही. हालांकि कुछ मिनट बाद ही बाजार में तेजी देखने को मिली.
    मंगलवार का दिन भारतीय शेयर बाजार के लिए उतार-चढ़ाव भरा रहा. सेंसेक्‍स ने रिकॉर्ड बढ़त के साथ शुरुआत की लेकिन कारोबार के आखिरी घंटों में 300 अंक से ज्‍यादा टूट गया. 
    2014 की मई में भी ज्यादातर एग्जिट पोल ने इसी तरह से बीजेपी को बहुमत मिलने का अनुमान जारी किया था. इसके बाद करीब पांच कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स में 1,560 अंकों तक की जबरदस्त बढ़त देखी गई.
    लोकसभा चुनाव के नतीजों से पहले शेयर बाजार में बढ़त का सिलसिला जारी है. मंगलवार को सेंसेक्‍स ने रिकॉर्ड बढ़त के साथ शुरुआत की.
    एग्जिट पोल के नतीजों के बाद सोमवार को भारतीय शेयर बाजार में रिकॉर्ड तेजी देखने को मिली तो वहीं पाकिस्‍तान के बाजार की हालत खराब रही.
    मोदी सरकार की वापसी की उम्‍मीदों के बीच सप्‍ताह के पहले कारोबारी दिन भारतीय शेयर बाजार में 1400 अंकों से ज्‍यादा की तेजी रही. 10 साल में पहली बार है जब बाजार में कारोबार के दौरान इतनी बड़ी तेजी रही.
    लोकसभा चुनाव के नतीजे 23 मई को आने वाले हैं. इससे पहले एग्जिट पोल के नतीजे जारी हुए हैं. इन नतीजों के बाद भारतीय शेयर बाजार में जबरदस्‍त बढ़त दर्ज की गई है.
    पाकिस्‍तान के आर्थिक हालात ठीक नहीं लग रहे हैं. बीते हफ्ते पाकिस्‍तान के शेयर बाजार में ऐतिहासिक गिरावट दर्ज की गई है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay