एडवांस्ड सर्च

पांच बार के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग का 24 साल से चला आ रहा दौर खत्म हो गया जब उनकी पार्टी एसडीएफ राज्य विधानसभा चुनाव एसकेएम से हार गई.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी 36 सीटें जीतने के करीब है. 28 पर जीत दर्ज कर चुकी है. दो स्वतंत्र प्रत्याशियों को जीत मिली है. कांग्रेस के पास 3 सीट, जनता दल(यूनाइटेड) के पास 6 सीटें, नेशनल पीपल्स पार्टी एक सीट जीत चुकी है वहीं चार सीटों पर आगे चल रही है.
    देश, दुनिया, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ साथ खबरों का लाइव अपडेशन.
    लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत का जश्न मना रहे बीजेपी, पीएम मोदी और अध्यक्ष अमित शाह को पार्टी के सीनियर नेता एल के आडवाणी ने तहे दिल से बधाई दी है. इसके अलावा आडवाणी ने चुनाव संपन्न कराने में जुटी सभी एजेंसियों को बधाई दी है. एल के आडवाणी ने कहा है कि उन्हें खुशी है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने घर-घर तक बीजेपी का संदेश पहुंचाने की कोशिश की है.
    स्वरा ने पहले पीएम मोदी को जीत की शुभकामनाएं दी, इसके बाद उन्होंने साध्वी प्रज्ञा की जीत को लेकर भी तंज कसा.
    आंध्र प्रदेश की 175 सीटों वाली विधानसभा में अकेले वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के पास 146 सीटों, तेलगू देशम पार्टी के पास 28 सीटें और जनसेना पार्टी के पास 1 सीट आई. भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस इस सीट पर अपना खाता भी खोलने में सफल नहीं हो सकीं.
    ओडिशा विधानसभा चुनावों में बीजू जनता दल को 105, बीजेपी को 27, कांग्रेस को 13, सीपीएम को 1 सीटें हासिल हुई. वहीं लोकसभा चुनावों में बीजेपी को 8 सीटें हासिल हुईं वहीं बीजू जनता दल ने 13 सीटों पर जीत हासिल की. 
    16:00
    आज 23 मई को लोकसभा चुनाव के नतीजे सामने आए. शुरूआती रूझानों में ही ये साफ हो गया था कि बीजेपी के नेतृत्व वाली NDA एक बार फिर जीतने जा रही है. पीएम मोदी ने लोकसभा चुनाव में मिली प्रचंड जीत के लिए  जनता का नमन करते हुए कहा कि देश की जनता ने इस फकीर की झोली को भर दिया है. उन्होंने इस जीत को लोकतंत्र के इतिहास में सबसे बड़ी घटना बताया. आज दि लल्लनटॉप शो में हम आपको नतीजों से जुड़ी कुछ बड़ी बातें बताएंगे. देखें वीडियो.
    देश में एनडीए से अलग लगभग सभी राजनीतिक पार्टियां पहले एकजुट होकर नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ कई मंचों पर एक साथ नजर आईं लेकिन चुनावों की तारीखों का ऐलान होने के बाद सभी प्रमुख पार्टियों में अनबन की खबरें सामने आने लगीं. कांग्रेस के साथ सभी प्रमुख राजनीतिक पार्टियां कन्नी काटती नजर आईं.
    जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद मोदी देश के तीसरे और पहले गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री है जो लोकसभा में लगातार दूसरी बार पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएंगे. इसके साथ ही उन्होंने दूसरी बार इस धारणा को धराशाही कर दिया कि केन्द्र की सत्ता में अब गठबंधन का दौर शायद ही खत्म हो. चुनाव आयोग द्वारा जारी मतगणना के आंकड़ों के अनुसार कांग्रेस के 50 सीटों तक ही सिमटने के ही आसार नजर आ रहे हैं.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay