एडवांस्ड सर्च

बिहार में नक्सलियों ने एक ठेकेदार और उनके ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी. मामला लखीसराय जिले का है. यहां पर ठेकेदार मदन यादव ने रंगदारी देने से मना किया तो नक्सलियों ने उनकी गोली मारकर हत्या कर दी.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    फिल्मी पर्दे पर या किसी वेब सीरीज में दिखने वाले कई माफिया डॉन या गैंगस्टर के किरदार हकीकत में कई असल माफियाओं की जिंदगी से मेल खाते हैं. ऐसे कई नाम हैं, जो मायानगरी में रोजगार की तलाश में आए. अच्छा काम नहीं मिला तो छोटे मोटे काम करते रहे. लेकिन जब कुछ हासिल नहीं हुआ तो उन्होंने जुर्म के रास्ते पर कदम रख दिया.
    घायल पुलिसकर्मियों को पास के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं दोनों बदमाशों के शव को भी पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. विजय यादव और समीर खान ने कांग्रेस नेता राजू मिश्रा और कुक्कू पंजाबी के मर्डर की प्लानिंग की थी और घटना को अंजाम दिया था.
    देश, दुनिया, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ-साथ खबरों का लाइव अपडेशन.
    पुलिस का कहना है कि बंटी कुख्यात बदमाश है और उस पर 25 हजार रुपए का इनाम भी है. बदमाश पर हरियाणा पुलिस ने भी इनाम रख रखा था. कई अन्य मामलों में भी पुलिस उसकी तलाश कर रही थी.
    देश में आज स्वतंत्रता दिवस के साथ ही रक्षाबंधन मनाया जा रहा है. इस अवसर पर एक बहन ने अपने भाई की बंदूक पर राखी बांधी. छत्तीसगढ़ पुलिस में महिला कांस्टेबल कविता कौशल ने अपने शहीद भाई असिस्टेंट कांस्टेबल राकेश कौशल की बंदूक पर राखी बांधी.
    वेट्टी रामा ने 30 साल तक नक्सली संगठन के लिए काम किया जिसके बाद उसने 13 अक्टूबर 2018 को हथियार के साथ पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था. अब वह रक्षाबंधन के मौके पर बहन से नक्सलियों का साथ छोड़कर घर लौटने की गुजारिश कर रहा है.
    जश्ने आजादी की 73वीं सालगिरह पर साहित्य आजतक पर पढ़िए विदेशों में आजादी की अलख जगानेवाले उन राष्ट्रभक्तों के बारे में जिन्होंने आजादी आंदोलन में लिखा तो अमिट फलसफा, पर उनके किए को लंबे समय तक अनदेखा किया गया था.
    बहुत से लोग जानना चाहते हैं कि बाटला हाउस एनकाउंटर के बाद क्या हुआ था. बाटला हाउस में एनकाउंटर 19 सितंबर 2008 की सुबह हुआ था. लेकिन उससे ठीक एक हफ्ता पहले 13 सितंबर 2008 को दिल्ली में पांच अलग-अलग जगह पर सीरियल ब्लास्ट हुए थे.
    कर्नाटक और केरल के बाद बाढ़ से सबसे ज्यादा महाराष्ट्र बेहाल है. पुणे संभाग के सभी पांच जिलों सांगली, कोल्हापुर, सतारा, पुणे और सोलापुर में बाढ़ के कारण अब तक 43 लोगों की मौत हो गई है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay