एडवांस्ड सर्च

ड्रोन ज्यादा उंचाई पर नहीं उड़ रहा था, इसलिए बीएसएफ ने इसे आसासी से अपने कंट्रोल में ले लिया. इस मामले की जांच जारी है. भारत-पाक सीमा पर हाल के दिनों में ऐसी कई घटनाएं सामने आई हैं.  

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    इराक की राजधानी बगदाद में अमेरिकी दूतावास के पास रॉकेट हमला हुआ है. सूत्रों के मुताबिक, दूतावास के पास 5 रॉकेट गिरे हैं. कुछ दिन पहले भी ऐसे रॉकेट हमले किए गए थे जिसके आरोप ईरान पर लगे.
    देश के 71वें लोकतंत्र दिवस के मौके पर इस बार राजपथ पर मिशन शक्ति के तहत निर्मित एंटी-सैटेलाइट सिस्टम को प्रदर्शित किया गया. पिछले साल 27 मार्च को भारत ने एंटी सैटलाइट मिसाइल का कामयाब परीक्षण किया था. परीक्षण के दौरान इन मिसाइल ने मात्र 3 मिनट में अंतरिक्ष में एक सैटेलाइट को मार गिराया था.
    भारतीय वायुसेना की मिसाइल का गलती से निशाना बने मिग-17 में सवार स्क्वाड्रन लीडर निनाद अनिल मंडावगने (मरणोपरांत) और स्क्वाड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ठ (मरणोपरांत) को वीरता पुरस्कार मिला है.
    जर्मनी में गोलीबारी की घटना में 6 लोगों की मौत हो गई है. बंदूकधारी ने परिवार के 6 सदस्यों की गोली मारकर हत्या कर दी.
    भारत ने विशाखापट्टनम के तट से 3500 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली K-4 बैलिस्टिक मिसाइल को पनडुब्बी से लॉन्च किया. इस मिसाइल को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने तैयार किया है.
    अमेरिका से सुलेमानी की मौत का बदला लेने की आग में ईरान ने यूक्रेन के उस विमान को ही निशाना बनाया था, जिसमें उसके अपने नागरिक मौजूद थे. हालांकि, ईरान शुरू में तमाम आरोपों को नकारता रहा, लेकिन  धीरे-धीरे वह अपनी गलती मान रहा है और अब उसने मिसाइल की बात भी स्वीकार ली है. दिलचस्प बात ये है कि हमले में रूसी मिसाइलों का इस्तेमाल किया गया.
    इराकी राजधानी के हाई-सिक्योरिटी ग्रीन जोन में अमेरिकी दूतावास के पास तीन रॉकेट दागे गए हैं. सुरक्षा सूत्रों के मुताबिक बगदाद में अमेरिकी दूतावास के पास तीन रॉकेट से इस हमले को अंजाम दिया गया है.
    05:58
    ब्रह्मोस मिसाइल से लैस सुखोई-30 फाइटर जेट, वो डेडली कॉम्बिनेशन है जिसके सामने समंदर में दुश्मन की अब खैर नहीं. ब्रह्मोस के साथ सुखोई-30 की टाइगर शार्क्स स्क्वॉड्रन, पहली बार हिंद महासागर में दुश्मन की हर चाल को ध्वस्त करने के लिए तैनात हो चुकी है. यहां जानें फीचर्स.
    भारतीय एयर फोर्स ने बताया है कि यह दक्षिण भारत का पहला स्क्वाड्रन है. हालांकि चीन और पाकिस्तान पर नजर रखने के लिए पश्चिमी और पूर्वी फ्रंट पर पहले से ही 11 स्क्वाड्रन मौजूद हैं.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay