एडवांस्ड सर्च

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को चीन के साथ बॉर्डर पर जारी तनाव को लेकर बयान दिया. प्रेस कॉन्फ्रेंस में रविशंकर बोले कि मोदी के भारत को कोई आंख नहीं दिखा सकता.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    तमिलनाडु के कोयम्बटूर में आज तेजस की दूसरी स्क्वाड्रन को वायुसेना में शामिल किया गया. वायुसेना प्रमुख ने तेजस विमान में उड़ान भी भरी.
    जुलाई के आखिरी हफ्ते में भारत को चार राफेल विमान मिलेंगे. इन विमानों को भारतीय वायुसेना के अंबाला एयरबेस पर तैनात किया जाएगा.
    पाकिस्तानी नौसेना के प्रवक्ता रियर एडमिरल अरशद जावेद ने बताया कि पाकिस्तानी नौसेना ने एंटी-शिप मिसाइलों का लाइव परीक्षण किया है. इस दौरान पाकिस्तानी नौसेना के चीफ एडमिरल जफर महमूद अब्बासी बतौर चीफ गेस्ट मौजूद रहे.
    केंद्रीय वित्त मंत्रालय की ओर से गुरुवार को एक आदेश जारी किया गया है. जिसमें कहा गया है कि जुलाई 2021 तक केंद्रीय कर्मचारियों को मिलने वाले बढ़े हुए डीए के इंस्टॉलमेंट पर रोक लगाई जाती है.
    देश, दुनिया, खेल, बिजनेस और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ? जानने के लिए यहां पढ़ें, समय के साथ साथ खबरों का लाइव अपडेशन.
    अमेरिका ने भारत को दो महत्वपूर्ण हथियार देने के सौदे को मंजूरी दे दी है. इसको लेकर ट्रंप प्रशासन ने अमेरिकी संसद को सूचित किया, जिसके बाद अब प्रक्रिया शुरू होगी.
    00:27
    कोरोना महामारी से भारत ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया संघर्ष कर रही है. इससे निपटने के लिए विकसित से विकसित देशों के इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे हैं. ऐसे में हर देश अपने सभी संसाधनों का इस्तेमाल इस बीमारी से निपटने में कर रहा है. इसी क्रम में इजरायल ने भी कुछ ऐसा ही कदम उठाया है. यहां जिस सेंटर में कभी मिसाइल तैयार किए जाते थे, वहां अब वेंटिलेटर बनाए जा रहे हैं. कोरोना के बढ़ते मरीजों के मद्देनजर वेंटिलेटर की उपलब्धता अमेरिका जैसे सुपरपावर के लिए बड़ी चुनौती साबित हो रहा है. ऐसे में हर देश अपने यहां वेंटिलेटर के इंतजाम में जुटा हुआ है. वेंटिलेटर के जरिए मरीजों को कृत्रिम तौर पर सांस देने में मदद मिलती है. इजरायल में यह कवायद क्यों शुरू की गई, देखिए पूरी रिपोर्ट.
    ईरान और अमेरिका के बीच चल रही अनबन का असर कोरोना वायरस से लड़ाई लड़ने पर भी पड़ रहा है. ईरान ने अमेरिका के द्वारा दिए गए मदद के ऑफर को ठुकरा दिया है.
    एक तरफ पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की महामारी ने जानलेवा रूप धारण किया है तो दूसरी ओर उत्तर कोरिया के मंसूबे एटमी हथियारों की जमाखोरी करने की है. इसे देखते हुए राष्ट्रपति ट्रंप ने किम जोंग उन को पत्र लिखा है और संबंध बढ़ाने की अपील की है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay