एडवांस्ड सर्च

कर्नाटक में लिंगायत समुदाय से आने वाले भारतीय जनता पार्टी के विधायक आनंद सी. ममानी ने खुद को मंत्री बनाए जाने को लेकर प्रमुख दावेदार के रूप में पेश किया है.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    रायबरेली की सियासत के बेताज बादशाह माने जाने वाले अखिलेश सिंह ने पैसा, ताकत और राजनीति को अपना गुलाम बनाकर रखा. यही वजह रही कि गांधी परिवार भी अखिलेश सिंह की सियासत को रायबरेली में मात नहीं दे सका. मंगलवार को अखिलेश सिंह का निधन हो गया.
    हज के लिए गए लोगों का एक वीडियो सामने आया है. ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में मक्का में मुस्लिम तिरंगा हाथ में लिए हिंदुस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते नजर आ रहे हैं.
    राजीव गांधी को भारत में इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी और कम्युनिकेशन क्रांति का श्रेय दिया जाता है. उन्होंने इकनॉमी के उदारीकरण और सरकारी नौकरशाही में सुधार लाने के लिए कई कदम उठाए. साल 1965 में राजीव गांधी की मुलाकात इटली में सोनिया गांधी से हुई और बाद में दोनों ने शादी कर ली.
    परिवार की मर्जी के खिलाफ जाकर शादी करने वाली बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा एक बार फिर से चर्चा में हैं. साक्षी मिश्रा ने कहा है कि सोशल मीडिया में उनके ससुराल और मायके वालों के खिलाफ कुछ लोग भ्रामक बाते लिख रहे हैं और उसके परिवार को बदनाम किया जा रहा है. साक्षी मिश्रा ने इनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.
    कौन बनेगा करोड़पति के सीजन 11 के पहले कंटेस्टेंट अनिल रमेशभाई जीवनाणी को अमिताभ बच्चन से एक शिकायत थी कि वे गुजरात आने के बाद भी कभी उनके गांव नहीं आए.
    फिल्मी पर्दे पर या किसी वेब सीरीज में दिखने वाले कई माफिया डॉन या गैंगस्टर के किरदार हकीकत में कई असल माफियाओं की जिंदगी से मेल खाते हैं. ऐसे कई नाम हैं, जो मायानगरी में रोजगार की तलाश में आए. अच्छा काम नहीं मिला तो छोटे मोटे काम करते रहे. लेकिन जब कुछ हासिल नहीं हुआ तो उन्होंने जुर्म के रास्ते पर कदम रख दिया.
    सीएम रहते हुए जगन्नाथ मिश्रा ने यह बिल 1982 में पेश किया था. बिहार प्रेस विधेयक के नाम से पेश इस बिल को भारी विरोध के बाद वापस ले लिया गया था. राज्य सरकार के खिलाफ संवेदनशील लेखों को छपने से रोकने को लेकर यह बिल पेश किया गया था.
    बिहार विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्राध्यापक रहे मिश्रा अपने भाई और रेल मंत्री रहते हुए एक सरकारी आयोजन में हुए बम विस्फोट में जान गंवाने वाले ललित नारायण मिश्रा की मौत के बाद सियासत में ऐसे उभरे कि बिहार कांग्रेस और जगन्नाथ मिश्रा एक-दूसरे के पूरक बन गए.
    बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्रा का 82 साल की उम्र में सोमवार को दिल्ली में निधन हो गया. मिश्रा खानदानी कांग्रेसी थे, लेकिन वक्त के साथ वो बदलते गए और बिहार की सियासत में अपनी जगह भी खोते गए. आखिरी वक्त में बीजेपी से भी उनकी नजदीकियां बढीं.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay