एडवांस्ड सर्च

मुंबई पुलिस को जल्दी ही अपना घुड़सवार दस्ता मिलेगा. देश को आज़ादी मिलने के बाद मुंबई पुलिस के लिए पहली बार ऐसा होगा. बेहतर ट्रैफिक व्यवस्था और भीड़ पर नियंत्रण के उद्देश्य से ये कदम उठाया जा रहा है.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    इंडिया टुडे कॉन्क्लेव ईस्ट 2019 में विमर्श तो हर महत्वपूर्ण विषय पर हुआ, लेकिन नागरिकता विधेयक इस विमर्श में छाया रहा
    सायंतन बसु ने कहा कि वेस्ट बंगाल में जो हो रहा है वह किसी सिविल सोशायटी में नहीं हो सकता. जो लोग आज उनके साथ हैं मैं चैलेंज करता हूं कि वो ममता के खिलाफ बात करें उनके साथ भी वही होगा जो दूसरों के साथ हुआ. ममता बनर्जी लोकतंत्र में विश्वास नहीं रखतीं. पश्चिम बंगाल में सेडिशन एक रेगुलर थिंग है.
    सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश अशोक गांगुली ने सेडिशन पर हो रही चर्चा के दौरान कहा कि आप सिर्फ बीजेपी को ब्लेम नहीं कर सकते. अरुंधति रॉय के खिलाफ क्या हुआ. मैं कोई पार्टी का आदमी नहीं हूं. सभी पार्टियों ने सरकार के खिलाफ उठी आवाज को दबाने के लिए इसका इस्तेमाल किया है.
    चर्चा के दौरान बीजेपी नेता और फैशन डिजाइनर अग्निमित्रा पॉल ने कहा कि बाबुल सुप्रियो के साथ जब हम जादवपुर यूनिवर्सिटी गए तो लेफ्ट आइडियोलॉजी के छात्रों ने मुझे धक्का दिया, मुझे बैडली टच किया, मेरी साड़ी तक फाड़ दी गई, वो सब आप सब ने टीवी पर देखा.
    एक्टिविस्ट रत्नाबोली राय ने चर्चा की शुरुआत करते हुए कहा कि हमने जो चिट्ठी लिखी वह बिलकुल स्पष्ट थी और उसमें ऐसा कुछ नहीं था जिस पर चार्ज लगाया जा सके. मुझे सबसे पहले यह धमकी जैसी लगी. हमने सिर्फ प्रधानमंत्री को लिंचिंग के खिलाफ एक्शन के लिए लिखा था.
    कॉन्क्लेव के पहले दिन 'फ्लैशप्वाइंट: राजद्रोह: देशभक्ति का नया टेस्ट किट' सेशन में बीजेपी नेता और फैशन डिजाइनर अग्निमित्रा पॉल, सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश डॉ. अशोक गांगुली, बीजेपी (पश्चिम बंगाल) के महासचिव सायंतन बसु और मेंटल हेल्‍थ एक्‍टिविस्‍ट रत्‍नाबोली राय ने अपने विचार रखे.
    एक बार फिर इंडिया टुडे ग्रुप के लोकप्रिय और चर्चित कार्यक्रम इंडिया टुडे कॉन्क्लेव ईस्ट 2019 का आयोजन होने जा रहा है.
    सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अर्जी में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने कहा है कि जब तक विधानसभा सदन में शक्ति परीक्षण नहीं हो जाता तब तक मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के किसी भी तरह के नीतिगत निर्णय लेने पर रोक लगाई जाए.
    मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की एक फैमिली कोर्ट में एक ऐसा हैरान करने वाला मामला आया है, जहां एक पति अपनी पत्नी की शादी उसके बॉयफ्रेंड से करवाने जा रहा है ताकि वो खुशी से रह सके.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay