एडवांस्ड सर्च

गणेश का कहना है कि जब शेरू बच्चा था, तबसे साथ है. अब इसको कैसे छोड़ दूं? उन्होंने बताया कि सहयात्रियों ने भी शेरू को लेकर कोई आपत्ति नहीं जताई. रास्ते में जब यात्रियों ने दोनों का प्यार देखा, तो किसी ने रोक-टोक तक नहीं की.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    दिल्ली का वायु प्रदूषण स्तर हर साल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोरता है. लॉकडाउन की अवधि के दौरान दिल्ली के लोग भी बेहतर हवा में सांस ले रहे हैं. लॉकडाउन से पहले दिल्ली का एक्यूआई औसतन 162 था, जो कि लॉकडाउन के दौरान घटकर 79 पर आ गया है यानी 51 फीसदी का सुधार हुआ है.
    पुलिस आयुक्त ने सोमवार को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से सभी फरीदाबाद वासियों को घर से नहीं निकलने एवं सरकार द्वारा पारित आदेशों का पालन करने की अपील की थी. इसके बाद भी जिन लोगों ने आदेश की अवहेलना की, फरीदाबाद की पुलिस ने उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की.
    अगर आपके या परिवार के किसी भी सदस्य में कोरोना के लक्षण जैसे बुखार, खांसी, सिरदर्द, बदन दर्द आदि दिखाई देते हैं. तो इसमें घबराने की जरूरत नहीं है. हम यहां देशभर के कोरोना वायरस सैंपल सेंटर और हेल्पलाइन नंबर दे रहे हैं. इन्हें डायल करके पा सकते हैं मदद.
    रविवार को मुख्यमंत्री के आदेश पर हरियाणा के 7 जिलों को लॉकडाउन किया गया है जिनमें फरीदाबाद भी शामिल है. इस आदेश के बाद पुलिस कमिश्नर ने बाकायदा एक ऑडियो वायरल कर पुलिस को हिदायत दी थी कि किसी भी प्रकार का कोई भी वाहन इधर से उधर नहीं होगा.
    भारत में कोरोना वायरस के अबतक करीब 400 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 7 लोगों की मौत हो चुकी है. ऐसे में केंद्र और राज्य सरकारों ने कई इलाकों में लॉकडाउन का ऐलान किया है, ताकि लोग अधिक से अधिक संख्या में अपने घरों में रहें.
    रास्ता देने के लिए राहुल ने पड़ोसी की बाइक हटाई. इससे गुस्साए आरोपी पक्ष ने राहुल की पीट पीटकर हत्या कर दी.
    देश, दुनिया, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ साथ खबरों का लाइव अपडेशन.
    हमें शुरुआत में भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग से एक विकास अनुदान और मानव रचना न्यूजेन आइईडीसी से एक प्रोटोटाइप विकास के लिए अनुदान मिला था.
    फरीदाबाद पुलिस का कहना है कि तीन से चार बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया. बदमाशों ने कैश वैन के ड्राइवर को कहा कि उसकी गाड़ी के सामने कुछ नोट गिरे हुए है. कैश वैन ड्राइवर का दावा है कि वह उनकी बातों में आ गया और रुपया लेने के लालच में गाड़ी से नीचे उतर गया. इस दौरान एकदम फिल्म अंदाज में बदमाश कैश वैन से नोटों से भरा एक बक्शा उठाकर फरार हो गए.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay