एडवांस्ड सर्च

भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) ने महाराष्ट्र में वर्गवार सम्मेलनों के जरिए सभी वर्गों तक पहुंचने की तैयारी की है. सम्मेलन की तैयारियों के लिए पार्टी ने बैठकें शुरू की हैं.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    देश, दुनिया, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ साथ खबरों का लाइव अपडेशन.
    महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव तारीखों का ऐलान जल्द किया जा सकता है. मुख्य चुनाव आयुक्त सहित दोनों चुनाव आयुक्त 17 सितंबर को महाराष्ट्र का दौरा करेंगे. सूत्रों ने बताया कि चुनाव आयुक्त 18 सितंबर को महाराष्ट्र से लौटेंगे. इसका मतलब है कि 19 सितंबर को राज्य में विधानसभा के लिए चुनावी कार्यक्रमों की घोषणा की जाएगी.
    छगन भुजबल के इस कदम से महाराष्ट्र के सियासी गलियारों में एक बार फिर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है. इस बात की अफवाहें उड़ रही हैं कि क्या छगन भुजबल चुनाव से पहले शरद पवार का साथ छोड़ सकते हैं?
    महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी-शिवसेना गठबंधन सरकार के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने 44 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. वह पांच साल का कार्यकाल पूरा करने वाले राज्य के दूसरे मुख्यमंत्री बन गए हैं.
    महाराष्ट्र में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने चुनाव प्रचार में अपनी पूरी ताकत लगा दी है. इसी दौरान रविवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अपनी रैली के दौरान कहा कि अगर उनसे कहा गया तो उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में काम करने पर खुशी होगी.
    बीजेपी ने शिवसेना को साफ कर दिया है कि पिछले विधानसभा चुनावों में दोनों पार्टियों ने जितनी सीट जीती थी, उतनी सीटें दोनों दलों के पास रहेंगी.
    महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले मातोश्री में शिवसेना की उच्च स्तरीय बैठक हो रही है. इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए शिवसेना के सभी नेता मातोश्री पहुंच चुके हैं. शिवसेना के विधायक संजय पोटनिस ने बताया, यह चुनाव से पहले होने वाली बैठक है.
    महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव 2019 में भले ही शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच गठबंधन को लेकर कोई तकरार नहीं देखने को मिला, लेकिन इस बार के विधानसभा चुनाव में भी वही तस्वीर देखने को मिल रही है जैसी विधानसभा चुनाव 2014 में दिखी थी. 
    रामदास अठावले ने कहा है कि हमने 10 सीटों की मांग की है. उन्होंने स्पष्ट किया कि आरपीआई इस विधानसभा चुनाव में भी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और शिवसेना के साथ मिलकर ही चुनाव लड़ेगी.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay