एडवांस्ड सर्च

कमलनाथ सरकार सत्ता से बाहर हो गई है, लेकिन अब तक बीजेपी न सरकार बना पाई है और न विधायक दल का नेता चुन पाई है. ये हालात तब हैं जब पूरा देश जानलेवा कोरोना वायरस से जूझ रहा है और मध्य प्रदेश बिना सरकार के चल रहा है. पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इंतजार कर रहे हैं. सबसे प्रबल दावेदार समझे जाने वाले शिवराज सिंह के नाम पर अभी तक पार्टी शीर्ष नेतृत्व का ग्रीन सिग्नल नहीं मिला है.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    इस ट्वीट में दावा किया गया है कि 15 अगस्त को कमलनाथ मुख्यमंत्री के तौर पर ध्वजारोहण करेंगे और परेड की सलामी लेंगे. इस ट्वीट में सरकार की विदाई को बेहद अल्प विश्राम बताते हुए इसे संभाल कर रखने की सलाह भी दी गई है.
    01:51
    निर्भया गैंगरेप (Nirbhaya Gangrape) के चारों दोषियों विनय, अक्षय, मुकेश और पवन गुप्ता को शुक्रवार सुबह दिल्ली के तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में फांसी के फंदे पर लटकाया गया. फांसी होने के बाद तिहाड़ जेल के बाहर लोग हाथों में झंडा लिए जश्न मन रहे हैं. लोगों ने निर्भया जिंदाबाद के नारे लगाए. लोगों ने कहा- न्याय देर से हुआ पर न्याय बहुत अच्छा हुआ, निर्भया की मां पूरे देशवासियों के लिए लड़ी हैं. देखें वीडियो.
    इलाके में तनाव तभी से खदबदा रहा था जब भाजपा की अगुआई वाली केंद्र सरकार ने पिछले साल 9 दिसंबर को नागरिकता (संशोधन) कानून (सीएए) पारित किया था. यहां से 22 किलोमीटर दूर शाहीन बाग में सैकड़ों औरतें 14 दिसंबर से धरने पर बैठी थीं.
    मथुरा के सिद्ध गांव निवासी अभिषेक कुमार शर्मा तिरंगा लेकर दुनिया के 51 देशों की यात्रा करेंगे. इसकी टैगलाइन जय हिंद होगी. इस दौरान अभिषेक बाइक से अकेले लगभग एक लाख किलोमीटर की दूरी तय करेंगे. इसमें लगभग 15 महीने का समय लगेगा.
    साध्वी निरंजन ज्योति का कहना है कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अकेले में जनसंख्या नियंत्रण के विषय पर चर्चा की थी और इस पर कानून लाने का सुझाव भी दिया था. निरंजन ज्योति ने कहा कि उन्हें लगता है कि पीएम के दिमाग में यह विषय है.
    जम्मू नगर निगम ने सिटी चौक का नाम बदलकर भारत माता चौक और सर्कुलर रोड चौक का नाम बदलकर अटल जी चौक कर दिया है.
    प्रदर्शनकारियों ने सीलमपुर को मौजपुर और यमुना विहार से जोड़ने वाले मार्ग संख्या 66 को बंद कर दिया है. स्थिति को भांपते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई जो स्थिति पर निगरानी बनाए हुए हैं. रविवार को सुरक्षा बलों को भी मौके पर तैनात कर दिया गया.
    Jafrabad protest जाफराबाद महिलाओं के प्रदर्शन को देखते हुए इलाके में महिला पुलिसकर्मियों सहित बड़ी संख्या में सुरक्षा बल को तैनात किया गया है. जाफराबाद में ऐसे समय में प्रदर्शन शुरु हुआ है जब शाहीन बाग में सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों ने एक सड़क को खोल दिया है. शाहीन बाग में सड़क खुलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त वार्ताकार लगातार कोशिश कर रहे हैं.
    विवाद बढ़ने के बाद AIMIM के वारिस पठान ने अपनी विवादित टिप्पणी को वापस लेने का ऐलान कर दिया. उन्होंने कहा कि हमारे बीच राजनीतिक मतभेद हो सकते हैं. मेरे बयान का गलत मतलब निकाला गया. मैं अपनी बात वापस लेता हूं.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay