एडवांस्ड सर्च

लॉकडाउन के दौरान धन की कमी की वजह से माओवादी हताश हो रहे.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    तनवीर और राकिब की गिरफ्तारी सेना व पुलिस के लिए बड़ी सफलता मानी जा रही है, क्योंकि इससे घाटी में आतंक के सफाए में बड़े स्तर पर मदद मिलेगी. एक दिन पहले बुधवार को पुलवामा जिले के अवंतीपोरा में संयुक्त टीम ने घाटी के बड़े आतंकवादी रियाज नायकू को मार गिराया.
    दो कुख्यात नक्सलियों ने सोमवार को पटना में पुलिस मुख्यालय पहुंचकर हथियारों के साथ आत्मसमर्पण किया. दोनों नक्सली बिहार के वैशाली जिले के रहने वाले हैं.
    नर्मदा 22 साल से अधिक समय तक अंडरग्राउंड थी. उसे माओवादियों के शीर्ष गुरिल्ला कमांडर में से एक कहा जाता है.  नर्मदा राज्य समिति के सदस्य और सीपीआई (माओवादी) के दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी (डीकेएसजेडसी) के शीर्ष कमांडरों में से एक है.
    10 लाख रुपये के इनामी नक्सली संतोष यादव उर्फ टाइगर को गिरफ्तार कर लिया गया है. रविवार की मुठभेड़ में संतोष गोली लगने से घायल हो गया था.
    ब‍िहार का रहने वाला हार्डकोर नक्सली राजेश उर्फ गोपाल प्रसाद उर्फ उत्तमी, शुक्रवार को गुजरात एटीएस की ग‍िरफ्त में आ गया. वह ब‍िहार के नक्सली संगठन में जोनल कमांडर भी है. उस पर 10 सीआरपीएफ जवानों को मौत के घाट उतारने का आरोप है.
    छत्तीसगढ़ के  सुकमा के खेरपाल में आईईडी ब्लास्ट हुआ है. धमाके में पुलिस के 3 जवान घायल हो गए हैं.
    PLFI का जोनल कमांडर रहते हुए कारगिल उर्फ धनेश्वर यादव ने पूरे झारखंड में आतंक मचा रखा था. उसके खिलाफ राज्य के कई थानों में मुकदमे दर्ज हैं.
    झारखंड पुलिस को उस वक्त बड़ी कामयाबी मिली, जब दस लाख रुपये के इनामी कुख्यात नक्सली प्रकाश उरांव ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया. प्रकाश के हथियार डाल देने से नक्सलियों को बड़ा झटका लगा है.
    दीपक उरांव को भाकपा माओवादी संगठन में जोनल कमांडर का रैंक मिला था. उसके खिलाफ सरकार ने 10 लाख रुपए के इनाम की घोषणा कर रखी थी.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay