एडवांस्ड सर्च

रिपोर्ट में महाराष्ट्र के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) और देवांग दवे के बीच किसी भी प्रकार के संबंध को नकारा गया है. इससे भी इनकार किया गया है कि सीईओ ऑफिस या डीजीआईपीआर (डायरेक्टर जनरल ऑफ इनफॉरमेशन एंड पब्लिक रिलेशन्स, महाराष्ट्र) की ओर से सोशलसेंट्रल मीडिया सोल्यूशन कंपनी को कोई काम दिया गया.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राजस्थान में फोन टैपिंग कांड को काफी गंभीरता से लेते हुए विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. वहीं, बीजेपी ने इस पूरे मामले में सीबीआई जांच की मांग उठाई तो कांग्रेस ने बीजेपी के रुख पर ही सवाल खड़े कर दिए. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या बीजेपी की मांग पर केंद्र सरकार राजस्थान को फोन टैपिंग मामले की जांच सीबीआई को सौंप सकती है?
    सरकार की ओर से मुकदमा वापस लिए जाने संबंधी खबरों का उल्लेख करते हुए कहा गया है कि मार्च 2017 में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सरकार के गठन के बाद राजा भैया से जुड़ा एक भी मुकदमा वापस नहीं लिया गया है.
    शनिवार रात फोन टैपिंग मामले में तब एक नया मोड़ आ गया जब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इससे जुड़ी रिपोर्ट तलब की. मंत्रालय ने राजस्थान के मुख्य सचिव से टैपिंग की रिपोर्ट मांगी है. सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने फोन टैपिंग कांड को काफी गंभीरता से लिया है और इसकी विस्तृत जांच की बात कही जा रही है.
    जिस कोरोना के राज़ का सच पूरी दुनिया जानना चाहती है, डॉ. शी झेंगली उसी कोरोना की हमराज़ है. जी हां, वो चीन के उसी वुहान लैब की डिप्टी डायरेक्टर हैं, जिस लैब को कोरोना फैलाने का जिम्मेदार माना जा रहा है. डाक्टर शी झेंगली चीन समेत पूरी दुनिया में बैट वुमेन के नाम से भी जानी जाती हैं.
    हैदराबाद से आए मजदूर मुकेश कुमार सफर की परेशानियां बताते हुए कहते हैं कि रास्ते में थोड़ी यात्रा ट्रक से, लेकिन अधिकतर पैदल ही पूरी की. चार-पांच दिन हो गए. भूखे-प्यासे ही हैं. उन्होंने कहा कि गांव पहुंचे तो घुसने नहीं दिया गया और अस्पताल आए तो जांच नहीं की जा रही है.
    देश, दुनिया, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ-साथ खबरों का लाइव अपडेशन.
    सीबीआई कोर्ट ने चार्जशीट स्वीकार करते हुए कहा कि जांच एजेंसी को उनके खिलाफ कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं. हालांकि अब ट्रायल मनोज प्रसाद के भाई सोमेश्वर प्रसाद और उनके ससुर, सुनील मित्तल पर भी चलेगा. इससे पहले सीबीआई चार्जशीट सिर्फ मनोज प्रसाद के खिलाफ ही दाखिल हुई थी.
    इस मामले में फिलहाल चार्जशीट पर कोर्ट ने संज्ञान नहीं लिया है. कोर्ट ने केस डायरी ले ली है. कोर्ट ने सीबीआई को कहा है कि गहन अध्ययन करेंगे कि आपने किस तरह से जांच की है.
    सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि कोई साक्ष्य नहीं है जो दिखाता है कि अस्थाना ने कभी धनशोधन मामले में शिकायतकर्ता सतीशबाबू को बचाने के लिए कोई रिश्वत मांगी या दी. घूसखोरी का यह मामला विवादास्पद मीट निर्यातक मोइन कुरैशी से जुड़ा है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay