एडवांस्ड सर्च

मुलायम सिंह यादव के छोटे बेटे प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा बिष्ट यादव को पिछले महीने उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार ने 'वाई' श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की थी. जिसके बाद से ही यह अटकलें लगाई जा रही हैं कि वह 2022 के विधानसभा चुनावों से पहले दल बदलने जैसा बड़ा निर्णय ले सकती हैं.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बार फिर पेट्रोलियम की कीमतों में उछाल को लेकर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने पहले तो डीजल-पेट्रोल और ईंधन गैस के दामों में असाधारण वृद्धि कर जनता की कमर तोड़ दी अब प्रदेश में बिजली भी मंहगी करने की तैयारी कर रही है.
    कांग्रेस सीएए-एनआरसी के खिलाफ शुरू से खड़ी रही है. लखनऊ में भले ही अब शाहनवाज आलम की गिरफ्तारी हुई हो, लेकिन सदफ जफर से लेकर कांग्रेस के तमाम नेताओं की यूपी में गिरफ्तारी पहले ही हो चुकी थी. इतना ही नहीं प्रियंका गांधी ने भी सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों से मुलाकात की थी.
    चीन मामले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से लेकर राहुल गांधी तक लगातार मोदी सरकार को घेरने में जुटे हैं, लेकिन कांग्रेस को चीन मुद्दे पर विपक्षी दलों के साथ-साथ सहयोगी का भी साथ नहीं मिल रहा है. एनसीपी प्रमुख शरद पवार से लेकर बसपा प्रमुख मायावती तक चीन मामले पर सरकार के साथ खड़े नजर आ रहे हैं. इस तरह से कांग्रेस अकेले पड़ गई है.
    देश, दुनिया, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ साथ खबरों का लाइव अपडेशन.
    आगरा में कोरोना संक्रमण के मृत्यु दर मामले के बाद अब कानपुर शेल्टर होम मुद्दों को उठाने के मामले में योगी सरकार ने प्रियंका गांधी को नोटिस भेजा है. वहीं, कानपुर शेल्टर होम मामले को सपा प्रमुख अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती ने भी उठाया था, लेकिन इन दोनों नेताओं से कोई जवाब नहीं मांगा गया है.
    उत्तर प्रदेश बाल संरक्षण आयोग कानपुर ने प्रियंका गांधी वाड्रा को नोटिस भेजकर जवाब मांगा है. इस पर प्रिंयका गांधी ने योगी सरकार के साथ-साथ इशारों-इशारों में मायावती और अखिलेश यादव पर भी निशाना साधा है. प्रियंका ने कहा कि फिजूल की धमकियां देकर समय बर्बाद ना करें. उन्होंने कहा कि वह इंदिरा गांधी की पोती हैं, कोई अघोषित भाजपा प्रवक्ता नहीं हैं.
    उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है. अखिलेश ने पूछा है कि अभी तक जितने समझौते हुए हैं वो कितने जमीन पर उतरे हैं.
    अखिलेश यादव ने कहा कि किसान लुट रहा है, मजदूर भूखों मर रहा है, बेरोजगारी सुरसा की तरह आकार बढ़ाती जा रही है, नौकरी के नाम पर युवकों को धोखा दिया जा रहा है, छात्र वर्ग कुंठित है. बुनकर, दस्तकार और छोटा, मझोला, बड़ा उद्यमी किसानों की तरह आत्महत्या करने को विवश है. देश की सीमाएं सिकुड़ रही हैं.
    चीन मामले को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बयान जारी कर मोदी सरकार से कहा कि जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए. यही समय है जब पूरे राष्ट्र को एकजुट होना है और संगठित होकर इस दुस्साहस का जवाब देना चाहिए. ऐसे में सवाल उठता है कि चीन मामले को लेकर कौन मोदी सरकार को घेरने में जुटा है तो कौन सरकार के समर्थन में है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay