एडवांस्ड सर्च

हरियाणा विधानसभा चुनाव के बाद आजतक-एक्सिस माई इंडिया का एग्जिट पोल सर्वे में सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी को जहां जोर का झटका लगा है तो सत्ता में वापसी की कोशिशों में लगी कांग्रेस का प्रदर्शन सुधरता दिख रहा है. वहीं राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) नेता इंद्रेश कुमार ने कहा है कि यह हिंदू-मुस्लिम का नहीं स्वाभिमान का मुद्दा है. न्यूजरैप में पढ़ें आज शाम की 5 बड़ी खबरें.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    इंद्रेश कुमार ने कहा, हमें एनआरसी का स्वागत करना चाहिए. जनसंख्या नियंत्रण मजहबी मामला नहीं है. जनसंख्या नियंत्रण के लिए सरकार को कानून बनाना चाहिए.
    अखिलेश यादव की सरकार में कमलेश तिवारी को 17 सुरक्षाकर्मी मिले थे, जो कम होते-होते आठ तक पहुंच गए थे. योगी की सरकार में यह संख्या चार तक पहुंच गई. दो साथ चलते थे और दो कार्यालय में रहते थे. कुसुम तिवारी ने कहा कि जिस दिन कमलेश की हत्या हुई, उस दिन एक भी सुरक्षाकर्मी उनके साथ नहीं था.
    कबीर खान से पूछा गया कि क्या बॉलीवुड के डायरेक्टर्स और स्क्रिप्ट राइटर्स पर भी दबाव डालने की कोशिश की जा रही है? उन्होंने इस मामले में प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उनसे अभी तक किसी ने ऐसा कुछ नहीं कहा है लेकिन ऐसी घटनाएं देश के अलग-अलग हिस्सों में हो रही है.
    कमलेश तिवारी की हत्या पर कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी सरकार पर निशाना साधा है. प्रियंका गांधी ने कहा कि प्रदेश में रोज हत्याएं हो रही हैं.
    मुल्क के समय मुझ पर हिंदू विरोधी होने का आरोप लगा तो मैंने जय श्री राम वाला गमछा बांध लिया और जय श्री राम के नारे लगाए.
    कमलेश तिवारी हत्याकांड के तार अब कर्नाटक से भी जुड़ गए है. कर्नाटक पुलिस ने मंगलवार को प्रतिबंधित संगठन सिमी के एक कार्यकर्ता को गिरफ्तार किया है.
    कमलेश तिवारी हत्याकांड में गुजरात से गिरफ्तार किए गए तीन आरोपियों को उत्तर प्रदेश पुलिस आज कोर्ट में पेश कर सकती है. यूपी पुलिस ने मौलाना शेख सलीम, फैजान और राशिद अहमद पठान को गुजरात से गिरफ्तार किया था.
    कमलेश तिवारी हत्याकांड में एजेंसियों की जांच में आरोपी सैयद आसिम अली के कई वीडियो यूट्यूब पर मिले हैं. एक वीडियो में सैयद आसिम अली ने कहा था 'कमलेश तिवारी अपनी मौत के करीब है, गुस्ताखी की सजा मौत है.'
    कुरनूल जिले में बीजेपी ने रविवार को घर वापसी कार्यक्रम का आयोजन कराया. बीजेपी का दावा है कि कार्यक्रम में 500 ईसाइयों ने हिंदू धर्म अपनाया.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay