एडवांस्ड सर्च

01:20

जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव करीब आते जा रहे हैं, चुनावी गलियारों में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. चाहे वह बालाकोट एयर स्ट्राइक का मुद्दा हो या बेरोजगारी का या फिर किसानों की समस्याओं का. विपक्ष इन सभी मुद्दों को लेकर मोदी सरकार को घेरना चाह रहा है. लेकिन बीजेपी ने पुलवामा हमले के बाद की गई एयर स्ट्राइक के बाद सारे मुद्दों को दरकिनार कर राष्ट्रवाद को अपनी चुनावी रणनीति की तरह इस्तेमाल कर रहा है. यूपी में हुए सपा-बसपा गठबंधन हो चाहे प्रियंका गांधी का चुनावी दौरा सबके निशाने पर मोदी ही हैं. हर राजनीतिक दल मोदी को केंद्र की राजनीति से हटाना चाहते हैं. इसी पर आधारित है हमारा आज का कार्यक्रम सो सॉरी.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    01:44
    चुनावी मौसम में सभी दल जोर आजमाइश करने में लगे हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद को देश का भावी प्रधानमंत्री की कुर्सी पर देखने के लिए रणनीति बनाने लगे हुए हैं. वहीं, लालू यादव इस चुनावी फ्रेम से पूरी तरह से बाहर हो गए हैं और जेल में सजा काट रहे हैं. इधर, केंद्र की मोदी सरकार नीरव मोदी की खोज में लगी है. इन सभी मुद्दों पर देखिए आजतक/इंडिया टुडे का गुदगुदाने वाला खास शो सो सॉरी.
    So Sorry Gully Cricket ‘सो सॉरी गली क्रिकेट’ में मज़ा और मनोरजंन, दोनों का दिलचस्प मिलन आम चुनाव और क्रिकेट वर्ल्ड कप से पहले देखा जा सकता है.
    01:11
    'सो सॉरी' के इस दिलचस्प शो में देखें देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को सबक सिखाने की कैसे ठानी और पाकिस्तान को कैसे धमकाया. यह शो मुख्य रूप से प्रधानमंत्री के उस वादे पर आधारित है जिसमें उन्होंने पुलवामा हमले के बाद कड़ी चेतावनी देते हुए कहा था कि पाकिस्तान को इसकी बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी. उन्होंने यह भी कहा था कि सेना को खुली छूट दे गई है. दूसरी ओर इमरान खान यह कहते देखे जा रहे हैं कि भारत अगर सबूत दे तो वे कार्रवाई करने को तैयार हैं. पुलवामा हमले के बाद पीएम मोदी ने यह भी कहा था कि अब पाकिस्तान से बातों का वक्त निकल गया, अब कार्रवाई का समय है.
    01:11
    उत्तर प्रदेश में आने वाले आम चुनाव में कांग्रेस का मुकाबला माजवादी पार्टी- बहुजन समाज पार्टी गठबंधन के अलावा बीजेपी से है. रा‍हुल गांधी ने इस बीच प्रदेश कांग्रेस में नई जान फूंकने बहन प्रियंका गांधी की राजनीति में औपचारिक एंट्री करवा दी. जिससे 2019 के चुनावी तस्वीर अचानक बदल गई है. इस चुनावी रेस में प्रियंका ने प्रदेश कांग्रेस की गाड़ी का स्टेयरिंग अपने हाथों में ले लिया है. अब देखना है इस रेस में कौन जीतता है?
    01:57
    सो सॉरी में देखिए किस तरह से चुनावी रेस में मोदी और अमित शाह को हराने विपक्षी दल एक ही रथ पर सवार हुए. इस रथ पर मायावती और अखिलेश यादव तो थे ही. उसके बाद ममता बनर्जी ने भी उन्हें ज्वॉइन किया. इसके बाद आते हैं अरविंद केजरीवाल. वही रेस में हिस्सा ले रहे राहुल गांधी की गाड़ी जब ऐन वक्त पर डगमगाने लगी, तभी एंट्री लेती हैं प्रियंका गांधी और राहुल गांधी कहते हैं- बहना हाथ बढ़ाना.
    01:14
    पिछले दिनों कोलकाला में विपक्ष के कई नेताओं की महारैली हुई. रैली में सभी नेताओं ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना बनाया. ममता बनर्जी की अगुवाई में हुई इस रैली में नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद से हटाने की कसमें भी खाई गईं. लेकिन विपक्ष में तो कई नेता प्रधानमंत्री पद के सपने देख रहे हैं. क्या यह सभी मिलकर नरेंद्र मोदी को कुर्सी से हटा पाएंगे. तो सो सॉरी में देखिए कैसे प्रधानमंत्री बनने के सपने देख रहे इन नेताओं को झटका लगा है.
    01:42
    साल 2019 की शुरुआत हो चुकी. देश और दुनिया में जश्न का माहौल है. नए साल के मौके पर सो सॉरी के इस एपिसोड में देखिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पीएम मोदी ने कैसे नया साल मनाया. पीएम मोदी ने खास अंदाज में नया साल का स्वागत किया. 2019 का ऐलान पीएम ने जब किया तो कांग्रेस के नेता कुछ वक्त के लिए हैरान रह गए. देखें आखिर कैसे पीएम मोदी ने किया साल 2019 का स्वागत और क्यों हैरान रह गए कांग्रेस के नेता.
    01:20
    तीन राज्यों में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को करारी हार का सामना करना पड़ा है. ऐसा लग रहा है,  कि कभी न हारने वाली ब्रांड मोदी की चमक फीकी कम होती जा रही है. अब इन चुनावों के नतीजों को देखकर ऐसा लग रहा है कि सोई हुई कांग्रेस पार्टी जाग उठी है.  2019 में मोदी और राहुल की सीधी टक्कर होती नजर आ रही है. इसी पर देखिए सो सॉरी
    02:00
    देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो गए हैं. शुक्रवार को इन राज्यों के एग्जिट पोल भी आ गए. ज्यादातर एग्जिट पोल में कांग्रेस को बढ़त में दिखाया गया है. राजस्थान और छत्तीसगढ़ में तो कांग्रेस की एकतरफा जीत बताई जा रही है. 11 दिसंबर को वोटों की गिनती होगी और चुनाव के नतीजे आएंगे. उससे पहले पार्टियों की चिंता इस बात को लेकर है कि चुनावी राज्यों में आखिर किसकी सरकार बनेगी. आज का सो सॉरी इसी पर...

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay