एडवांस्ड सर्च

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद को लेकर एक उच्च स्तरीय बैठक की. इसमें निर्णय लिया गया कि इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट में फास्ट ट्रैक सुनवाई के प्रयास किए जाएंगे.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को कहा कि न्यायिक प्रक्रिया बहुत महंगी हो गई है. उन्होंने कहा, 'गरीब आदमी के लिए सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट तक पहुंचना बहुत मुश्किल हो गया है. ऐसी स्थिति में हमें देश के लोगों को सस्ता और त्वरित न्याय प्रदान करने के लिए सामूहिक प्रयास करने होंगे.'
    मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि देश की सभी पार्टियां ब्लैक मनी से ही चुनाव लड़ती हैं और ब्लैक मनी से सरकारी बनाती है ऐसे में भ्रष्टाचार कैसे खत्म होगा. उन्होंने आगे कहा कि मैं 45 साल से राजनीति में हूं और यह सब देख रहा हूं इसलिए मुझसे ज्यादा इस बारे में कोई नहीं बता सकता.
    पी चिदंबरम ने महिला सुरक्षा के मुद्दे पर भी सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि यूपीए कार्यकाल में जब वे वित्त मंत्री बने थे, तब महिला सुरक्षा के लिए निर्भया फंड में 3100 करोड़ का आवंटन किया था.
    ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने आजतक के खास कार्यक्रम थर्ड डिग्री में कहा कि मुझे एनकाउंटर पसंद नहीं है. संविधान देश की भावनाओं से नहीं चलेगा. अपराधों पर अंकुश के लिए हमें अपनी पुलिस व्यवस्था को मजबूत बनाने की जरुरत है.
    उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद से देशभर में लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है. वहां उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के परिजनों को मदद का ऐलान किया है.
    अश्वनी उपाध्याय का कहना है कि सरकार को तुरंत इसको लेकर कानून बनाना चाहिए जिसमें ब्रेन मैपिंग, नार्को टेस्ट और पॉलीग्राफ टेस्ट को बलात्कार मामले को लेकर जरूरी बनाने की बात कही है.
    निर्भया गैंगरेप के दोषी विनय शर्मा ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से दया याचिका को तत्काल वापस करने को कहा है. निर्भया के दोषी ने यह भी दावा किया कि राष्ट्रपति को भेजी गई दया याचिका में उसके हस्ताक्षर नहीं हैं.
    हैदराबाद में गैंगरेप के आरोपियों के एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबडे ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने गैंगरेप के आरोपियों के एनकाउंटर में मारे जाने की घटना की आलोचना की है. जोधपुर में एक कार्यक्रम में जस्टिस शरद अरविंद बोबडे ने कहा कि न्याय कभी भी आनन-फानन में किया नहीं जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर न्याय बदले की भावना से किया जाए तो अपना मूल चरित्र खो देता है.
    हैदराबाद एनकाउंटर की जांच के लिए राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) की टीम घटनास्थल के साथ-साथ उस अस्पताल का भी दौरा किया जहां चारों आरोपियों के शव रखे गए हैं. एनएचआरसी पहले ही एनकाउंटर पर चिंता जता चुकी है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay