एडवांस्ड सर्च

कोरोना वायरस से सुपर पावर अमेरिका इस कदर तबाह हो चुका है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसकी तुलना द्वितीय विश्व युद्ध में हुए पर्ल हार्बर हमले से कर दी है. जानें- इस हमले में कितने अमेरिकियों की हुई थी मौत.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    दुनिया का सबसे ताक़तवर देश कोरोना के सामने बेबस, लाचार और मजबूर नज़र आ रहा है. इस लाइन का लब्बोलुआब ये है कि अमेरिकी राष्ट्रपति कह रहे हैं कि जिस तरीके से कोविड-19 यानी कोरोना मुल्क में फैल रहा है. वो बेहद चिंताजनक है.
    अमेरिका के न्यूयॉर्क सिटी में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 9/11 को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले में मरने वालों की संख्या से ऊपर चला गया है.
    दुनिया का सबसे ताकतवर देश अमेरिका कोरोना वायरस महामारी के आगे बुरी तरह से चरमरा गया है. यहां पर अबतक करीब पौने दो लाख लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं.
    सत्र के दौरान नागरिकता कानून और उससे जुड़े तमाम मुद्दों पर विस्तार से चर्चा हुई. दोनों ही केन्द्रीय मंत्रियों ने बारी-बारी सरकार का पक्ष रखा और यह विश्वास दिलाया कि इस बिल से भारतीय नागरिकों का कोई नुकसान नहीं होने वाला, उन्हें डरने की जरूरत नहीं है.
    एजेंडा आजतक 2019 के दूसरे दिन एक खास सत्र में केन्द्रीय वाणिज्य, उद्योग और रेल मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शिरकत की. इस सत्र में देश की अर्थव्यवस्था, आर्थिक सुस्ती, नागरिकता कानून, प्रदूषण और दिल्ली चुनावों जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा हुई.
    डोनाल्ड ट्रंप ने कुछ ही दिन पहले अफगानिस्तान शांति वार्ता के तहत तालिबान को अमेरिका के कैंप डेविड आने का न्योता दिया था.
    धमाकों के बाद काबुल के आसमान पर धुएं का गुबार देखा गया. चेतावनी के सायरन बजने लगे और लोगों को अलर्ट कर दिया गया. रिपोर्ट के मुताबिक ये एक किस्म का रॉकेट ब्लास्ट था. समाचार एजेंसी एपी ने कहा है कि अमेरिकी दूतावास के एक अधिकारी ने भी ब्लास्ट की पुष्टि की है. इस हमले में अबतक जान-माल के कोई नुकसान की पुष्टि नहीं हो सकी है.
    यह हमला कितना बड़ा था इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस हमले में लगी आग को बुझाने में लगभग 100 दिन का समय लगा था. इस हमले में ट्विन टावर में 90 से ज्यादा देशों के नागरिक मारे गए थे.
    हमजा की मौत में अमेरिका का हाथ है या नहीं ये भी साफ नहीं हुआ है. हालांकि, अमेरिका के खुफिया अधिकारियों ने हमजा की मौत का दावा किया है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay