एडवांस्ड सर्च

महाराष्ट्र की सियासत में सरकार बनाने को लेकर संग्राम मचा है. एक तरफ शिवसेना है, जो किसी भी तरह से महाराष्ट्र में सत्ता के सिंहासन पर बैठना चाहती है तो दूसरी तरफ एनसीपी है, जो अपनी शर्तों पर शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाना चाहती है. वहीं 11वें ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजधानी ब्रासिलिया पहुंच गए हैं. पीएम मोदी आज रात साढ़े दस बजे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात करेंगे.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    5 अगस्त को फैसले के बाद घाटी में काफी कुछ बदल गया, जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश बन गया, लद्दाख अलग से केंद्र शासित प्रदेश बन गया. पिछले 100 दिनों में जम्मू-कश्मीर में क्या खास रहा, एक नज़र डालें...
    बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी को जब तक शह मिलती रहेगी, टैक्स आतंकवाद का अनचाहा तमगा भी लटका रहेगा.
    शिवसेना के संस्थापक बाला साहेब ठाकरे ने 1989 में भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन किया. दोनों पार्टियों ने 1989 का लोकसभा चुनाव और 1990 का महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव साथ मिलकर लड़ा और सीटों के लिहाज से अपने ग्राफ में इजाफा किया.
    बीजेपी और शिवसेना का गठबंधन 1989 में हुआ था. ये वो वक्त था जब शिवसेना की कमान उसके संस्थापक बाला साहेब ठाकरे के हाथों में थी, जो हिंदुत्व का बड़ा चेहरा थे. बीजेपी और शिवसेना का गठबंधन भी हिंदुत्व के विचार पर ही आगे बढ़ा.
    मोदी 2.0 ने मात्र छह महीनों में तीन तलाक को दंडनीय अपराध बनाया है, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म किया और सुप्रीम कोर्ट के ताजा फैसले से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का रास्ता भी साफ हो गया है.
    पत्रकार आतिश अली तासीर के ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया (ओसीआई) कार्ड को भारत सरकार ने रद्द कर दिया है. ब्रिटेन में जन्मे लेखक आतिश अली तासीर पर पिता के पाकिस्तानी मूल के होने की जानकारी छुपाने का आरोप है. बता दें कि तासीर ने TIME मैगजीन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लेख लिखते हुए उन्हें 'डिवाइडर इन चीफ' कहा था. ओसीआई रद्द होने के बाद तासीर ने TIME के जरिए ही अपना पक्ष सामने रखा है.
    मायावती ने बहुजन समाज पार्टी में कई फेरबदल किए हैं. उन्होंने बुधवार को दानिश अली को दोबारा बसपा के लोकसभा संसदीय दल का नेता बनाने की घोषणा की. बता दें कि दानिश अली को धारा 370 पर अलग राय रखने की वजह से हटाया गया था.
    इस साल हुए लोकसभा चुनाव में कमल हासन की पार्टी के तीन उम्मीदवार एन राजेंद्रन अराकोणम से, चिदंबरम से टी रवि और कृष्णगिरी सीट से एस श्रीकरुणा चुनाव लड़े थे. बता दें कि फरवरी 2018 में कमल हसन ने मक्कल निधि मय्यम (एमएनएम) का गठन किया था.
    दिल्ली में कांग्रेस के बुलावे पर सोमवार को 13 राजनीतिक दलों के नेता जमा हुए और देश के बड़े मुद्दों पर चर्चा की. मीटिंग के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने बताया कि पूरा विपक्ष आर्थिक मंदी, किसानों की समस्या और बेरोजगारी जैसे मुद्दों को उठाएगी. आजाद ने बताया कि यह निर्णय लिया गया है कि सत्र के दौरान हम सभी एक साथ-एक मंच पर इन सभी मुद्दों को उठाएंगे.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay