एडवांस्ड सर्च

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी की शुक्रवार को दिल्ली में गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद राजनीतिक हलकों में इन दोनों के साथ आने को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं. शनिवार को पीएम मोदी की अगुवाई वाली नीति आयोग की बैठक में जगन पहली बार शामिल होंगे, जिसमें वह आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य देने का मुद्दा उठा सकते हैं.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. दोनों नेताओं के बीच गृह मंत्रालय में मुलाकात हुई. सूत्रों का कहना है कि जगन की पार्टी वाईएसआर कांग्रेस पार्टी को लोकसभा में डिप्टी स्पीकर का पद दिया जा सकता है.
    नागरिकता (संशोधन) विधेयक को चुनौती देने वाली एक याचिका सुप्रीम कोर्ट में लंबित है और जैसे ही संसद यह विधेयक पास करेगी, इस याचिका पर सुनवाई होगी. नागरिकता (संशोधन) विधेयक को इस साल जनवरी में लोकसभा में पास कर दिया गया था, लेकिन राज्यसभा में यह पास नहीं हो सका था.
    कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की लखनऊ में समीक्षा बैठक हुई. इस बैठक के बाद सिंधिया ने कहा कि आज की बैठक 6 घंटे 30 मिनट चली. जमीनी स्तर पर संगठन को मजबूत करने के लिए हमें तमाम प्रतिक्रियाएं मिलीं. नतीजे असंतुष्ट करने वाले थे. हम आगामी विधानसभा चुनाव पूरी ताकत से लड़ेंगे और दो हफ्तों में इसके लिए तैयारी शुरू कर देंगे. हम उपचुनावों के लिए उम्मीदवारों के नाम पर भी चर्चा करेंगे. हम अपने दम पर चुनाव लड़ेंगे, लेकिन चुनाव तीन साल बाद होंगे. प्रियंका गांधी को मुख्यमंत्री चेहरा घोषित करने के बारे में पार्टी विचार करेगी. हमारा उद्देश्य संगठन को मजबूत करना है.
    हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने अभिनेत्री और राजनेता जया प्रदा की याचिका खारिज कर दी है. जया प्रदा ने समाजवादी पार्टी से सांसद आजम खान की सांसदी को चुनौती दी थी.
    भारतीय जनता पार्टी सदस्यता कमेटी का अध्यक्ष बनने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सदस्यता अभियान के दौरान हमारा अधिकतर फोकस बंगाल पर रहेगा. राज्य में कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे.
    ममता बनर्जी ने कहा कि हमें बांग्ला भाषा को आगे बढ़ाना होगा. जब मैं बिहार, यूपी या पंजाब जाती हूं तो उनकी भाषा में बोलने की कोशिश करती हूं.
    2014 से लेकर 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत से जीत के बाद भी बीजेपी को सफलता के शिखर पर नहीं मानते अध्यक्ष अमित शाह. पार्टी सूत्र बता रहे हैं कि अमित शाह का ध्यान,अब दक्षिण के राज्यों में सरकार बनाने के साथ देश के संसदीय इतिहास में किसी पार्टी की सबसे बड़ी जीत के रिकॉर्ड को तोड़ने पर है.
    लोकसभा चुनाव में बीजेपी हरियाणा, महाराष्ट्र और झारखंड में 50 फीसदी से ज्यादा वोटों के साथ जबरदस्त जीत हासिल करने में कामयाब रही . इसके अलावा इन तीनों राज्यों की सत्ता पर बीजेपी का कब्जा है, ऐसे में उसके पास पाने से कहीं ज्यादा अपने राजनीतिक आधार को बचाए रखने की चुनौती है.
    उत्तर प्रदेश में 2019 के लोकसभा चुनाव के नतीजे को विधानसभा के हिसाब से देखें तो दो साल में ही वोटों का गणित बदल गया है. इस बदले हुए समीकरण में बीजेपी और सपा को जहां नुकसान उठाना पड़ा है तो बसपा को जबरदस्त फायदा मिला है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay