एडवांस्ड सर्च

कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी अपनी परंपरागत अमेठी सीट को गंवा बैठे तो राजस्थान के मौजूदा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत जोधपुर सीट से नाकाम रहे. वहीं, एमपी की गुना सीट से ज्योतिरादित्य सिंधिया भी चुनाव हार गए.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    लोकसभा 2019 के चुनाव में अगर किसी नेता की जीत ने सबको हैरान कर दिया तो वह हैं स्मृति ईरानी, जिन्होंने अमेठी में कांग्रेस चीफ राहुल गांधी को 55120 वोटों से मात दी. स्मृति ईरानी ने शानदार जीत पर इंडिया टुडे से बातचीत की.
    राहुल गांधी के नेतृत्व में उतरी कांग्रेस को जबरदस्त हार का मुंह देखना पड़ा है. कांग्रेस 52 सीटों पर सिमट गई है. लोकसभा की हार को स्वीकार करते हुए राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की.
    इस चुनाव में कई ऐसे मुद्दे थे जो पूर्ण रूप से हावी रहे, दूसरे शब्दों में कहें तो इन मुद्दों पर जनता ने पीएम मोदी का भरपूर साथ दिया और उनकी जीत पर मुहर लगाई.
    2014 में स्मृति ईरानी अमेठी से चुनाव लड़ी थीं, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. उसके बावजूद स्मृति ने अमेठी का पीछा नहीं छोड़ा और लगातार वहां का दौरा करती रहीं.
    इंदिरा गांधी की हत्या की वजह से इस चुनाव में कांग्रेस को भारी सहानुभूति मिली थी. इसकी वजह से कांग्रेस पार्टी के 404 सांसद लोकसभा पहुंचे थे.
    Election results: अब तक सबसे ज्यादा वोट शेयर पाने का रिकॉर्ड राजीव गांधी के नाम था. 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद जब लोकसभा चुनाव हुए तो कांग्रेस ने पूरे देश में एकतरफा जीत हासिल की. कांग्रेस ने 48.1 फीसदी वोट शेयर के साथ रिकॉर्ड 400 से ज्यादा सीटें अपने दम पर जीतीं. उस वक्त बीजेपी की स्थापना को महज चार साल हुए थे और उसे 7.4 फीसदी वोट हासिल हुआ.
    Lok Sabha Chunav Ahmednagar Result 2019: महाराष्ट्र की अहमदनगर लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी डॉ. सुजय राधाकृष्ण विखेपाटील को शानदार जीत मिली है. उनके करीबी प्रतिद्वंदी नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी संग्राम अरुणकाका जगताप को हार का सामना करना पड़ा.
    आजतक-एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल में देश की ऐसी 78 लोकसभा सीटें निकलकर आई हैं, जिन पर कांटे की टक्कर है. यहां जीतने और हारने वाले प्रत्याशी के बीच महज 3 फीसदी वोट का अंतर निकलकर आ रहा है. ऐसे में ये अंतर जिस तरफ शिफ्ट होता है, मुमकिन है उसकी सीटों पर भी इसका असर जरूर दिखाई देगा.
    आजतक- एक्सिस माई इंडिया के सर्वे में एनडीए को अधिकतम 365 सीटें दी गई हैं. ऐसे में यह जानना जरूरी है कि वो कौन से मुद्दे रहे जिससे नरेंद्र मोदी और एनडीए के पक्ष में हवा बनती दिख रही है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay