एडवांस्ड सर्च

नरेंद्र मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे होने जा रहे हैं. मोदी के नेतृत्व में बीजेपी 2019 में 303 लोकसभा सीटों के साथ प्रचंड जीत दर्ज करने में भले ही कामयाब रही हो, लेकिन विधानसभा चुनाव के सियासी युद्ध में तीन राज्यों में उसे मात खानी पड़ी है. बीजेपी को महाराष्ट्र और झारखंड की अपनी सत्ता गवांनी पड़ी है तो दिल्ली में करारी मात मिली.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक बार फिर मीडिया से मुखातिब हुईं और 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की जानकारियां दीं. वहीं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को निर्विरोध रूप से महाराष्ट्र विधान परिषद का सदस्य चुन लिया गया है.
    महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को निर्विरोध रूप से महाराष्ट्र विधान परिषद का सदस्य चुन लिया गया है. महाराष्ट्र की विधान परिषद में जो 9 सदस्य निर्विरोध चुने गए हैं उनमें शिवसेना के दो, एनसीपी के दो, कांग्रेस के एक और बीजेपी के चार सदस्य शामिल हैं.
    सीएम उद्धव ठाकरे ने MLC चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया है. इसमें उन्होंने अपनी और अपने परिवार की संपत्ति 143.26 करोड़ रुपये घोषित की है. इसमें चल और अचल संपत्ति शामिल है, लेकिन उद्धव ठाकरे के पास कोई कार नहीं हैं. हालांकि दो बंगले जरूर उनके नाम हैं.
    विधान परिषद के चुनाव के नामांकन की अंतिम तारीख को उद्धव ठाकरे के साथ महाविकास अघाड़ी गठबंधन के सभी पांचों उम्मीदवारों ने अपना पर्चा भरा है जबकि बीजेपी उम्मीदवारों ने शनिवार को ही नामांकन कर दिया है. इस तरह से महाराष्ट्र की 9 सीटों के लिए कुल 12 नामांकन पत्र दाखिल किए गए हैं.
    शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे सोमवार को विधान परिषद सदस्य के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया. कांग्रेस के एक सीट पर चुनाव लड़ने पर राजी होकर उद्धव ठाकरे सहित सभी 9 सीटों पर निर्विरोध चुने जाने का रास्ता साफ कर दिया है. ठाकरे परिवार के उद्धव दूसरे सदस्य हैं जो चुनावी किस्मत आजमाने जा रहे हैं.
    देश, दुनिया, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ-साथ खबरों का लाइव अपडेशन.
    महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव के लिए कांग्रेस ने दो उम्मीदवारों को मैदान में उतारकर सूबे के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का सिर दर्द बढ़ा दिया था, लेकिन उसने अब एक उम्मीदवार वापस लेने का फैसला किया है. इससे उद्धव ठाकरे की निर्विरोध जीत तय है.
    महाराष्ट्र के कुल 288 सदस्यीय विधानसभा में सत्ताधारी महाविकास अघाडी को 170 विधायकों का समर्थन हासिल है, जिनमें शिवसेना के 56 विधायक, एनसीपी के 54 विधायक, कांग्रेस के 44 विधायक और अन्य 16 विधायक हैं. वहीं, बीजेपी के पास 105 विधायक हैं, जबकि 2 विधायक AIMIM और एक मनसे के विधायक हैं. इसके अलावा 10 अन्य विधायक हैं.
    देश, दुनिया, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ साथ खबरों का लाइव अपडेशन.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay