एडवांस्ड सर्च

जेडीयू और नीतीश कुमार से अलग हो चुके प्रशांत किशोर अपनी भविष्य की राजनीति पर मंगलवार को विस्तार से बात करेंगे, लेकिन इससे पहले आजतक डॉट इन के साथ बात करते हुए उन्होंने साफ किया कि बिहार में वो राजनीतिक मैनेजर के तौर पर काम नहीं करेंगे बल्कि एक राजनीतिक कार्यकर्ता के तौर काम करेंगे.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    बीजेपी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में हिंदुत्व और राष्ट्रवाद के मुद्दे के जरिए ध्रुवीकरण का खुला खेला है और नीतीश कुमार की पार्टी साथ में चुनाव लड़ रही थी. अब बिहार में साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि बिहार के सुशासन बाबू नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्या एक ही नाव पर सवारी करेंगे? 
    दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद अब बिहार विधानसभा पर भी देश की नजर है. दिल्ली में बीजपी की हार हुई है. बिहार में आरजेडी के नेतृत्व में महागठबंधन का दावा है कि बिहार में भी बीजेपी को झटका लगेगा और बीजेपी ही सरकार बनाएगी.
    Delhi Election Result: दिल्ली में पूर्वांचल मतदाताओं की काफी अच्छी-खासी संख्या है. इसी वजह से दिल्ली के इन विधानसभा चुनावों में बिहार के राजनीतिक दलों ने भी कुछ सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे.
    दिल्ली चुनाव के लिए वोटिंग हो गई है अब 11 फरवरी को रिजल्ट आएंगे. वहीं दिल्ली के बाद अब बिहार में भी चुनाव होने हैं. ऐसे में बिहार में आरजेडी और जेडीयू के बीच पोस्टर वार के बाद जुबानी जंग तेज हो गई है. इस बीच आरजेडी का दावा है कि जेडीयू के 30 विधायक उनके संपर्क में हैं, जिसपर जेडीयू ने तीखा प्रहार किया.
    सीएए-एनआरसी पर नीतीश के बदले बोलों ने अमित शाह को उन पर दोबारा भरोसा करने के लिए बाध्य किया
    बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले आर-पार की लड़ाई में उतर चुके राज्य के करीब 4 लाख नियोजित शिक्षकों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चाबंदी शुरू कर दी है और अपनी मांगों को लेकर राज्य के ऐसे सभी शिक्षक बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले 17 फरवरी 2020 से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर रहे हैं.
    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर को जेडीयू से बाहर निकाल दिया है. पीके को इससे गहरा झटका लगा है, ऐसे में माना जा रहा है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद ही प्रशांत किशोर अपने सियासी पत्ते खोलेंगे कि वो किस पार्टी का दामन थामेंगे. हालांकि यह तय है कि वह बिहार छोड़कर बाहर नहीं जाएंगे.
    Prashant Kishor को नीतीश कुमार ने जब जेडीयू में शामिल किया था तो उन्हें बिहार का भविष्य बताया था. हालांकि, किशोर के एक बयान ने ऐसे समीकरण बदला कि वो वह नीतीश की आंख में चुभने लगे. पढ़ें पूरी कहानी.
    कपिल मिश्रा पहले आम आदमी पार्टी सरकार में मंत्री रहे हैं, लेकिन इस बार वो बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. कपिल तमाम मुद्दों पर आक्रामक रुख अख्तियार किए हुए हैं. हाल ही में उन्होंने जनसंख्या की समस्या को मुस्लिम समाज से जोड़कर दिखाया था, जिस पर काफी विवाद हुआ था. सीएए के मसले पर विरोध कर रहे लोगों के खिलाफ भी उनका एक वीडियो विवाद का केंद्र बना था. अब उन्होंने दिल्ली चुनाव में पाकिस्तान को घसीट लिया है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay