एडवांस्ड सर्च

देश, दुनिया, खेल, बिजनेस और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ? जानने के लिए यहां पढ़ें, समय के साथ साथ खबरों का लाइव अपडेशन.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    सेना के लिए ज्वाइंट या थिएटर कमांड साल 2022 तक जम्मू और कश्मीर के अलग सेक्टर के साथ काम करना शुरू कर देगी. सीडीएस जनरल रावत ने सोमवार को बताया कि इस पर विचार किया जा रहा है.
    वर्ष 2020 के बजट में सेना की सबसे पड़ी पहेली यानी लगातार बढ़ते पेंशन के बोझ को तो रेखांकित किया गया है लेकिन इसका कोई समाधान पेश नहीं किया गया है.
    देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत ने कहा है कि सेना के जवानों के रिटायरमेंट की उम्र बढ़ाकर 58 साल करने के लिए सेना के तीनों अंग अध्ययन कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सेना में मुख्य रूप से दो कैटेगरी है. एक अधिकारियों का और दूसरा जवानों का ग्रुप है. अधिकारी 54 से 58 साल के बीच रिटायर होते हैं. समस्या अधिकारियों के साथ नहीं बल्कि जवानों के साथ है.
    चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के रूप में जनरल बिपिन रावत ने भारत के रक्षा सुधार के पुराने लंबित कार्य की शुरुआत कर दी है, लेकिन इस प्रक्रिया का सबसे मुश्किल कार्य थिएटर कमान का निर्माण प्राथमिकता सूची में सबसे आखिर में.
    कश्मीर के गुलमर्ग में तैनात देहरादून निवासी सेना में हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी बर्फ में फिसलकर पाकिस्तान सीमा में पहुंच गए और वहां से लापता हो गए. इस घटना को एक महीना होने को है, लेकिन अब तक हवलदार राजेंद्र सिंह के बारे में कोई सूचना नहीं मिली.
    दिल्ली के करिअप्पा परेड ग्राउंड NCC कैडेट्स को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि देश युवा है ये हमें गर्व है, लेकिन देश की सोच युवा हो ये हमारी जिम्मेदारी है. पीएम ने कहा कि समस्या टालने वाले लोग ज्यादा जगहों पर मिलते हैं, लेकिन आज का युवा भारत इसे स्वीकार करने को तैयार नहीं है.
    देश के 71वें लोकतंत्र दिवस के मौके पर इस बार राजपथ पर मिशन शक्ति के तहत निर्मित एंटी-सैटेलाइट सिस्टम को प्रदर्शित किया गया. पिछले साल 27 मार्च को भारत ने एंटी सैटलाइट मिसाइल का कामयाब परीक्षण किया था. परीक्षण के दौरान इन मिसाइल ने मात्र 3 मिनट में अंतरिक्ष में एक सैटेलाइट को मार गिराया था.
    भारतीय खुफिया एजेंसियों ने अपने अध्ययन में पाया है कि इन कैंपों में से प्रत्येक की क्षमता 700 है और इनमें से दर्जनों कैंप भरे हुए हैं. ये कैंप पंजाब, बलू​चिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में हैं.
    चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने कहा कि तीनों सेनाएं आपसी तालमेल से कार्रवाई को अंजाम देंगी. जनरल बिपिन रावत ने कहा कि यह भविष्यवाणी करना बहुत मुश्किल है कि पाकिस्तान के साथ युद्ध का एक परिदृश्य सामने आएगा या नहीं, लेकिन सभी रक्षा सेवाएं हमेशा तैयार रहती हैं.  

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay