एडवांस्ड सर्च

SFIO ने अपनी जांच में पाया कि इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग ऐंड फाइनेंशियल सर्विसेज (IL&FS) के शीर्ष प्रबंधन के निर्देश पर ये सभी लोन दिए गए. एबीजी ग्रुप को करीब 1080 करोड़ रुपये के 13 लोन बिना समुचित प्रक्रिया के दिए गए हैं.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    अगर आपने अपने घर पर लोन ले रखा है और आरबीआई के ब्याज दर कटौती के बाद आप उम्मीद कर रहे हैं कि आपकी ईएमआई घटेगी तो आपकी उम्मीद जायज है, लेकिन ये तभी मुमकिन जब बैंक इसका फायदा आपको दे.
    ज्यादातर नेताओं को अपने परिवार के सदस्यों से ही लोन लेना पसंद है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने अपनी मां सोनिया से लोन लिया है, समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने अपने बेटे से, तो एक्टर से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा ने अपनी बेटी से. 
    एक युवती आर्थिक तंगी से गुज़र रही थी उसे पर्सनल लोन की ज़रूरत थी तभी उसकी दोस्त ने उसे एक पैम्पलेट दिखाया. जिसमें प्रधानमंत्री योजना के तहत कम ब्याज दर पर लोन देने की बात लिखी थी. जब लड़की ने पैम्पलेट पर लिखे नंबर पर संपर्क किया तो वो जालसाजी का शिकार हो गई.
    International women's Day भारतीय महिलाएं अब किसी भी मामले में पुरुषों से कम नहीं हैं और कई मामलों में तो पुरुषोंं से भी आगे भी निकल गई हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार कर्ज लेने के मामले में महिला आवेदक बढ़ रही हैं. इसका मतलब यह है कि उन्हें अब ज्यादा वित्तीय आजादी मिल रही है.
    चुनाव के करीब सरकार ने रंग बदला. बैंकों को एनपीए के इलाज में ढील के लिए रिजर्व बैंक पर दबाव बनाया और गवर्नर को जाना पड़ा. फिर छोटी कंपनियों को कर्ज पुनर्गठन करने की छूट मिल गई.
    अर्थव्यवस्था जटिल हो चुकी है और सियासत दकियानूसी. महंगाई दुधारी तलवार है. अब इसकी धार अर्थव्यवस्था को गहराई से काट रही है. महंगाई का न बढ़ने के मतलब मांग, निवेश, खपत में कमी, लागत के मुताबिक कीमत न मिलना होता है. महंगाई में यह गिरावट इसलिए और भी जटिल है क्योंकि दैनिक खपत वस्तुओं में स्थानीय महंगाई कायम है. यानी आटा, दाल, सब्जी, तेल की कीमत औसतन बढ़ी है जिसके स्थानीय कारण हैं.
    थेन्नला गांव के पुरुष यास्मीन के काम से कोई बहुत खुश नहीं थे. उन्होंने तो मजाक उड़ाते हुए उनका नाम बिगाड़कर थेन्नला की मदर टेरेसा रख दिया, जो प्रचार के लिए यह सब कर रही हैं. मगर गांव की औरतें उनकी तरफ थीं और उन्हें और ज्यादा काम करने को प्रोत्साहित कर रही थीं.
    01:30
    1 दिसंबर से सरकारी बैंकों के साथ ही प्राइवेट बैंकों ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट्स यानी MCLR में बदलाव किया है. कुछ बैंकों ने MCLR बढ़ाया है, तो कुछ ने घटाया है. बता दें कि एमसीएलआर के घटने-बढ़ने का असर ईएमआई पर पड़ता है. आपको बता दें कि एमसीएलआर वह दर होती है जिस पर किसी बैंक से मिलने वाले ब्याज की दर तय होती है. इससे कम दर पर देश का कोई भी बैंक लोन नहीं दे सकता है, सामान्य भाषा में यह आधार दर ही होती है. एमसीएलआर की दर बढ़ने पर होम, ऑटो, पर्सनल  बाकी सभी प्रकार के लोन महंगे हो जाते है, क्योंकि ये सभी एमसीएलआर पर ही आधारित हैं.
    भारतीय रिजर्व बैंक ने बुधवार को ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर दी है. इस बढ़ोतरी के बाद बैंक भी कर्ज की ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकते हैं. इससे आपकी हर महीने जाने वाली ईएमआई बढ़ जाएगी.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay