एडवांस्ड सर्च

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने कंज्यूमर लोन के मामले में बैंकों के लिए जरूरी रिस्क वेट को घटा दिया है. इससे पर्सनल लोन, कंज्यूमर लोन पर बैंकों की लागत कम हो जाएगी और वे इनके लिए ब्याज दरें घटा सकते हैं.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    अगस्‍त महीने की खुदरा महंगाई और औद्योगिक उत्पादन  के आंकड़े जारी कर दिए गए हैं. इन आंकड़ों के आने के बाद आरबीआई पर रेपो रेट में कटौती का दबाव बढ़ गया है.
    मूडीज का कहना है कि RBI के इस फैसले से वाणिज्यिक बैंकों की वित्तीय चुनौतियां बढ़ेंगी.
    रिजर्व बैंक के आदेश के बाद 1 अक्‍टूबर से सभी तरह के लोन बाहरी बेंचमार्क दर से जोड़ दिए जाएंगे. इसका फायदा आम लोगों को जरूर मिलेगा लेकिन बैं‍कों के लिए नई मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं.
    भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने एक बार फिर से MCLR रेट घटा दिया है. इससे फ्लोटिंग रेट वाले होम लोन सस्ते हो जाएंगे, हालांकि इसका तत्काल लाभ नहीं मिलेगा. इसके अलावा एसबीआई ने एफडी पर ब्याज दरों में भी कटौती की है.
    लगातार अपील के बाद अब भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंकों को सभी लोन रेपो रेट से जोड़ने का निर्देश दिया है.
    सार्वजनिक बैंक का कुल NPA 31 मार्च, 2019 तक बढ़कर 8.06 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया था और पिछले तीन वित्त वर्ष में इसमें से 3.21 लाख करोड़ रुपये बट्टा खाता में डाल दिए गए हैं. इस दौरान बैंकों द्वारा दिए जाने वाले कर्ज में बढ़त महज 9.6 फीसदी हुई. 
    पिछले महीने ब्रिटानिया कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर ने ये कहकर पूरे व्यापार जगत में हलचल मचा दी थी कि लोग अब 5 रुपये का बिस्कुट खरीदने से पहले भी दो बार सोच रहे हैं.
    अगर आप स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहक हैं तो आपके लिए अच्‍छी खबर है. दरअसल, एसबीआई ने फेस्टिव सीजन को देखते हुए कई बड़े ऐलान किए हैं.
    उत्तर प्रदेश के नोएडा में एक चौंका देने वाला मामला सामने आया है. तीन सगे भाइयों ने एक और शात‍िर जालसाज से म‍िलकर आईटी से जुड़ी कंपनी खोलकर गूगल से लोगों के फोटो व उनके पते निकालकर फर्जी आधार व पैन कार्ड बनवाया. फ‍िर बाद में करोड़ों को लोन लेकर फरार हो जाते हैं.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay