एडवांस्ड सर्च

प्रधानमंत्री ने नागरिकों से दीया और मोमबत्ती से प्रकाश करने के लिए कहा था. लेकिन कई जगह कुछ लोगों ने पटाखे भी फोड़े. जानिए, हवा की गुणवत्ता पर इसका क्या असर पड़ा.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    दिल्ली में आप की प्रचंड जीत इस बात का प्रमाण है कि ध्रुवीकरण का माहौल खड़ा करने के तमाम प्रयासों के बीच विकास चुनावों में एक प्रमुख जिताऊ मुद्दा हो सकता है.
    किसान जनजागरण अभियान की शुरुआत के साथ ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि यूपी सरकार ने किसानों के साथ हर मोर्चे पर छल किया है.
    मनीष सिसोदिया ने कहा कि सड़क, नाली, बिजली, पानी से लेकर सीसीटीवी जैसे काम, लोगों का सरकार पर भरोसा पैदा कर रही है. बीजेपी इन इलाकों में आकर काम देखे, वोटिंग के दिन बीजेपी को पता चल जाएगा की काम कैसा हुआ है.
    नागरिकता (संशोधन) कानून को लेकर हो रहे विरोध-प्रदर्शन ज्यादा भावनात्मक चुनावी मुद्दा बनकर उभरे हैं. लेकिन ऐसा लगता है कि दिल्ली का अनिवार्य मुद्दा, प्रदूषण के खिलाफ सालाना जंग भी विधानसभा चुनावों में वोट देते समय ध्यान में रखी जाएगी. दिल्ली में 8 फरवरी को विधानसभा चुनाव हैं. इस बीच प्रदूषण का खतरा थोड़ा ही कम हुआ है और दिल्ली की वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआइ) फिलहाल थोड़ा सुधरकर 'खतरनाक' से 'बहुत खराब' स्तर पर आ गई है.
    Delhi Election 2020 में बीजेपी ने आम आदमी पार्टी को घरने की रणनीति बनाई है. इसके तहत बीजेपी अरविंद केजरीवाल के जरिए किए गए दावों पर उन्हें घरने की कोशिश करने वाली है.
    महाराष्ट्र की राजनीति के लिए आज का दिन अहम है. बीड जिले में स्वर्गीय गोपीनाथ मुंडे की जयंती पर उनकी बेटी पंकजा मुंडे ने रैली का आयोजन किया है. विधानसभा चुनाव में हार के बाद पंकजा ने बीजेपी के नेताओं के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. उनका साथ एकनाथ खडसे भी दे रहे हैं.
    भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेताओं से नाराज चल रहीं पंकजा मुंडे को मनाने की कोशिशें तेज हो गई हैं. महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, एकनाथ खड़से, प्रकाश मेहता समेत कई नेता पंकजा मुंडे के घर पराली पहुंच गए हैं. सभी नेता पंकजा मुंडे की शिकायतों को सुनेंगे.
    सोमवार को लोकसभा में नागरिक संशोधन बिल आसानी से पास हो चुका है. अब आज यह बिल राज्यसभा में पेश होगा. वहीं लखनऊ में आज सुबह-सुबह किसानों ने सरकार पर धावा बोल दिया.
    लखनऊ में आज सुबह-सुबह किसानों ने सरकार पर धावा बोल दिया. करीब 4 बजे सैकड़ों किसान विधानसभा के घेराव के लिए पहुंचे थे, लेकिन पुलिस ने पहले ही बैरिकेडिंग कर रखी थी. पुलिस ने किसानों पर पानी की बौछार छोड़कर इन्हें काबू में करने की कोशिश की. कई प्रदर्शनकारियों को बस में भरकर दूर ले जाया गया. कई किसानों को पुलिस ने हिरासत में भी लिया. बता दें कि गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ाने और पराली समेत कई मुद्दों पर किसानों ने आज पूरे यूपी में आंदोलन का ऐलान किया है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay