एडवांस्ड सर्च

माला श्रीवास्तव को बस्ती के डीएम पद की जिम्मेदारी मिली है. इंद्र विक्रम सिंह को शाहजहांपुर का डीएम बनाया गया है. इसके अलावा शकुंतला गौतम को बागपत डीएम पद मिला है. अवधेश कुमार तिवारी को डीएम महोबा बनाया गया. वहीं प्रशांत शर्मा को अमेठी का डीएम बनाया गया.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने होम बायर्स को समय पर फ्लैट नहीं देने वाले बिल्डरों के खिलाफ सख्त रुख अख्तियार कर लिया है. उन्होंने साफ लहजे में कहा कि होम बायर्स के हितों के साथ खिलवाड़ करने की किसी को भी इजाजत नहीं दी जाएगी. सरकार इस मामले को लेकर किसी स्तर पर भी कार्रवाई करने को तैयार है.
    देश, दुनिया, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ साथ खबरों का लाइव अपडेशन.
    विवादित पोस्ट के मामले में पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी पर बीजेपी की सहयोगी जनता दल यूनाइटेड के प्रवक्ता केसी त्यागी ने भी सवाल खड़ा किया है. केसी त्यागी का कहना है कि पत्रकार को गिरफ्तार करना इमरजेंसी के काले दिन की याद दिलाता है.
    साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली से पूछा कि हम रिकॉर्ड से देख रहे हैं कि जो पैसा बायर्स से आया और जो प्रोजेक्ट पर खर्च हुआ. उसमें 350 करोड़ बचे हैं. ऐसे में आपको क्यों न प्रोजेक्ट से बाहर कर प्रोजेक्ट को नोएडा और ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी को सौंपा जाए.
    पुलिस ने आरोपी के पास से हत्या में इस्तेमाल एक पिस्टल सहित एक कार को बरामद किया है. पुलिस ने आरोपी को हत्या के मामले में जेल भेज दिया है.
    namaz controversy नोएडा के सेक्टर 58 में स्थित पार्क में नमाज का विवाद थमता नहीं दिख रहा. शुक्रवार को यहां पार्क के अंदर और बाहर दोनों जगह भारी पुलिस टीम तैनात कर दी गई. लोगों को पार्क में इकट्ठा होने से रोकने के लिए प्रशासन ने पार्क में पानी भरवा दिया है.
    Noida Namaz Controversy नोएडा में सेक्टर-58 के पार्क में नमाज पढ़ने के मामले में पुलिस ने फिर साफ किया कि पार्क में नमाज नहीं होगी. इस बीच एक वीडियो सामने आया है, जिसे नमाज विरोध करने वाले शख्स ने बनाया है.
    रियल एस्टेट रेगुलेट्री अथॉरिटी उत्तर प्रदेश उन डेवलपर्स को नोटिस जारी करेगा जिन्होंने ग्राहकों का पैसा प्रोजेक्ट में लगाने की जगह उसे किसी दूसरे प्रोजेक्ट या काम के लिए इस्तेमाल किया है.
    मकानों और फ्लैट की बुकिंग के बाद पजेशन पाने के लिए बरसों से इंतज़ार कर रहे नोएडा और गाजियाबाद समेत यूपी के सभी घर खरीदारों को बड़ी राहत मिल सकती है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay