एडवांस्ड सर्च

10:40

किस्मत कनेक्शन के अपने खास शो में आज हम आपको बताएंगे निर्जला एकाशी के महत्व और उपवास की महिमा की. प्रातःकाल स्नान करके सूर्य देवता को जल अर्पित करें.  इसके बाद पीले वस्त्र धारण करके भगवान विष्णु की पूजा करें. उन्हें पीले फूल, पंचामृत और तुलसी दल अर्पित करें. इसके बाद श्री हरि और मां लक्ष्मी के मंत्रों का जाप करें.  किसी निर्धन व्यक्ति को जल, अन्न-वस्त्र, जूते या छाते का दान करें. आज के दिन वैसे तो निर्जल उपवास ही रखा जाता है,  ले‍किन आवश्यकता होने पर जलीय आहार और फलाहार लिया जा सकता है.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    15:03
    एस्ट्रो अंकल आज आपको बताएंगे निर्जला एकादशी की महिला और उसके महत्व के बारे में. ज्येष्ठ मास में शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को निर्जला एकादशी और भीमसेनी एकादशी के रूप में मनाया जाता है.  इस एकादशी व्रत में पानी पीना वर्जित माना जाता है इसीलिए इस एकादशी को निर्जला कहते है. निर्जला एकादशी पर  निर्जल रहकर भगवान विष्णु की आराधना की जाती है और दीर्घायु और मोक्ष का वरदान प्राप्त किया जा सकता है.
    ज्येष्ठ मास में शुक्लपक्ष की एकादशी तिथि को निर्जला एकादशी और भीमसेनी एकादशी के रूप में मनाया जाता है. इस एकादशी व्रत में पानी पीना वर्जित माना जाता है इसलिए इस एकादशी को निर्जला कहते है.
    09:21
    कल निर्जला एकादशी है.  भगवान  विष्णु की कृपा पाने का दिव्य दिन कहते हैं इस दिन व्रत उपवास और हरि कीर्तन से महापुण्य की प्राप्ति होती है. इसलिए आज हम आपको निर्जला एकादशी की महिमा और महत्व बताएंगे. साथ ही जानेंगे निर्जला एकादशी के दिव्य उपाय.
     इसे भीमसेनी एकादशी भी कहा जाता है.  इस दिन बिना जल के उपवास रहने से साल की सारी एकादशियों का पुण्य फल प्राप्त हो जाता है. इसके अलावा इससे  धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष, चारों पुरुषार्थों की प्राप्ति भी होती है.
    25:16
    चाल चक्र में आज आपको बताएंगे निर्जा एकादशी पर कैसे पूरी होंगी आपकी मनोकामनाएं. ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को निर्जला एकादशी कहा जाता है.  भीम ने एक मात्र इसी उपवास को रखा था और मूर्छित हो गए थे, अतः इसको भीमसेनी एकादशी भी कहा जाता है.  इस दिन बिना जल के उपवास रहने से साल की सारी एकादशियों का पुण्य फल प्राप्त हो जाता है.  इसके अलावा धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष , चारों पुरुषार्थों की प्राप्ति भी होती है.  इस दिन अच्छे स्वास्थ्य तथा सुखद जीवन की मनोकामना पूरी की जा सकती है.  इस बार निर्जला एकादशी का व्रत 13 जून को रखा जाएगा.
    List of Vrat and Festival in June 2019: जून के महीने में कई महत्वपूर्ण व्रत-त्योहार पड़ने वाले हैं. जानिए- इस महीने में किस दिन कौन सा त्योहार मनाया जाएगा.
    Kamada Ekadashi 2019: चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी को कामदा एकादशी मनाई जाती है. इस बार कामदा एकादशी 15 अप्रैल, सोमवार के दिन है.
    देश, दुनिया, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ साथ खबरों का लाइव अपडेशन.
    15:49
    ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को निर्जला एकादशी कहते हैं, इस दिन बिना जल के उपवास रखने से सारी एकादशियों का लाभ मिलता है. सुखद जीवन और अच्छी सेहत की मनोकामना भी पूरी होगी. निर्जला एकादशी का व्रत इस बार 23 जून को रखा जाएगा. टेरो कार्ड रीडर श्रुति से राशि के अनुसार जानिए आज आपके लिए क्या शुभ और क्या मंगल है और किन बातों से सावधान रहना है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay