एडवांस्ड सर्च

कोरोना वायरस को लेकर एक ओर जहां केन्द्र सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन कर रखा है वहीं दूसरी ओर राज्य सरकारें लोगों को घरों में रोके रहने की कोशिश में लगी हुई हैं. वहीं झारखंड से एक नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप की एक सनसनीखेज खबर सामने आई है.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस के चारों दोषियों को फांसी दिए जाने के बाद समाजसेवी अन्ना हजारे ने अपना मौन व्रत तोड़ दिया है. पिछले 90 दिनों से अन्न हजारे मौन व्रत पर थे.
    निर्भया के दोषियों को आज शुक्रवार सुबह फांसी पर लटका दिया गया, उन्हें सजा दिए जाने से जहां लोगों में खुशी है तो दोषियों के परिजन इससे खुश नहीं हैं.
    दिन शुक्रवार, सुबह 5.30 बजे तिहाड़ जेल में निर्भया के चारों दोषियों को फांसी दे दी गई. साल 2012 में राजधानी दिल्ली में हुए निर्भया गैंगरेप कांड में लगभग सात सालों के बाद गुनहगारों को पूरी सजा मिली है. वहीं मध्य प्रदेश में सीएम कमलनाथ फ्लोर टेस्ट से पहले अपना इस्तीफा सौंप सकते हैं. इसके अलावा कोरोना वायरस को लेकर पीएम मोदी की जनता कर्फ्यू वाली अपील, कोराना वायरस की वजह से दुनिया में मौत का आंकड़ा 10,000 के पार और उतार-चढ़ाव के बाद सेंसेक्स-निफ्टी में मामूली रिकवरी शुक्रवार सुबह की बड़ी खबरें हैं.
    निर्भया के दोषियों को फांसी दिए जाने के बाद तिहाड़ जेल प्रशासन ने सभी लॉकअप को खोल दिया है. इसके बाद तिहाड़ जेल में सुरक्षा का जिम्मा संभाल रही तमिलनाडु पुलिस ने फ्लैग मार्च किया.
    तिहाड़ जेल प्रशासन ने बताया कि दोषियों को फांसी पर लटकाने से पहले उनके पसंद के डिनर के लिए पूछा गया था. मुकेश और विनय ने रात में डिनर किया था लेकिन पवन और अक्षय ने कुछ नहीं खाया. सभी दोषी रात भर जागते रहे.
    ग्रेटर नोएडा के एक गांव में नाली विवाद ने खूनी रूप में ले लिया और महिला समेत 2 लोगों की मौत हो गई. शुरुआत में झगड़ा महिलाओं के बीच था, लेकिन पुरुषों के आ जाने के बाद स्थिति बिगड़ गई और संघर्ष खूनी हो गया.
    आखिरकार निर्भया को सात साल, तीन महीने और तीन दिन बाद आज इंसाफ मिल गया. चारों दोषियों अक्षय कुमार, पवन गुप्ता, विनय शर्मा और मुकेश कुमार को तिहाड़ जेल में शुक्रवार सुबह 5.30 बजे फांसी पर लटका दिया गया. और अब यह ट्विटर लगातार ट्रेंड भी कर रहा है और लोग अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं.
    निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस के चारों गुनहगारों अक्षय कुमार, पवन गुप्ता, विनय शर्मा और मुकेश कुमार को दिल्ली के तिहाड़ जेल में सुबह ठीक 5.30 बजे फांसी पर लटका दिया गया है.
    लंबी कानूनी लड़ाई और इंतजार के बाद आखिरकार वो घड़ी आ ही गई जब निर्भया के चारों गुनहगारों को फांसी के फंदे पर लटका दिया गया. साढ़े सात साल बाद निर्भया को इंसाफ मिला. इस बीच निर्भया के माता-पिता ने 20 मार्च को निर्भया दिवस के रूप में मनाने की बात कही.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay